न्यूजीलैंड आतंकी हमला में भारतीय शख्स ने दिखाया गजब का हौसला, आतंकवादी पर किया हमला, जख्मियों को भी बचाया

न्यूजीलैंड आतंकी हमला में भारतीय शख्स ने दिखाया गजब का हौसला, आतंकवादी पर किया हमला, जख्मियों को भी बचाया

इस्लामिक स्टेट के आतंकी ने सुपरमार्केट में चाकू लेकर 'अल्लाहू अकबर' का नारा लगाते हुए लोगों को निशाना बनाया। इस दौरान उसने छह लोगों को जख्मी किया। हालांकि एक भारतीय व्यक्ति ने गजब का हौसला दिखाया और आतंकवादी को ही चौंका दिया।

वेलिंगटन। न्यूजीलैंड के ऑकलैंड सुपरमार्केट में इस्लामिक स्टेट (IS) के आतंकी ने शुक्रवार को हमला किया था। इस दौरान आतंकी ने छह लोगों को चाकू से घोंपकर जख्मी कर दिया था। हालांकि हमले के कुछ वक्त बाद ही उसे मार गिराया गया था। इस बीच एक भारतीय व्यक्ति ने गजब का हौसला दिखाया, जिसकी कहानी आज चारो तरफ छाई हुई है। 

इसे भी पढ़ें: 9/11 आतंकी हमले से संबधित सभी दस्तावेजों को गोपनीय सूची से हटाएगा बाइडेन प्रशासन! 

भारतीय ने दिखाया गजब का हौसला

आपको बता दें कि इस्लामिक स्टेट के आतंकी ने सुपरमार्केट में चाकू लेकर 'अल्लाहू अकबर' का नारा लगाते हुए लोगों को निशाना बनाया। इस दौरान उसने छह लोगों को जख्मी किया। हालांकि एक भारतीय व्यक्ति ने गजब का हौसला दिखाया और आतंकवादी को ही चौंका दिया।

प्राप्त जानकारी के मुताबिक सुपरमार्केट में हुए हमले के बाद लोग वहां से भागने लगे, लेकिन जब अमित नंद नामक भारतीय ने लोगों को भागते देखा तो वह कुछ समझ ही नहीं पाया। फिर अचानक उसकी नजर बड़ा सा चाकू लिए एक हमलावर पर पड़ी। उस वक्त अमित को एक महिला के पुकारने की भी आवाज सुनाई दे रही थी, जिसके बाद उसने उसे बचाने का निर्णय लिया।

आतंकी से भिड़ गया भारतीय

जब हर कोई अपनी जान बचाते हुए सुपरमार्केट से बाहर भाग रहा था तब अमित नंद ने वहां मौजूद एक अन्य व्यक्ति से डंडा मांगा और आईएस के आतंकी से भिड़ गया। हालांकि कुछ वक्त बाद पुलिसकर्मी ने मोर्चा संभाल लिया और आतंकवादी को ढेर कर दिया। 

इसे भी पढ़ें: न्यूजीलैंड के सुपरमार्केट में आतंकी हमला, पुलिस ने हमलावर को किया ढेर 

भारतीय ने की जख्मियों की मदद

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक आतंकी के मारे जाने के बाद अमित नंद ने जख्मियों की मदद की और सुपरमार्केट में मौजूद सामान से जख्मियों का खून रोकने की कोशिश की। मरने वाले आतंकी की पहचान श्रीलंकाई नागरिक के तौर पर हुई है। बताया जा रहा है कि श्रीलंकाई नागरिक आतंकी समूह इस्लामिक स्टेट से प्रभावित था।

न्यूजीलैंड की प्रधानमंत्री जेसिंडा अर्डर्न ने कहा, ‘‘वहां मौजूद हर व्यक्ति और जिसने इस भयानक घटना को देखा, उनके बारे में मैं कल्पना भी नहीं कर सकती कि इसके बाद वह कैसा महसूस करेंगे, लेकिन जख्मियों की मदद के वास्ते आगे आने के लिए आपका शुक्रिया।’’ 

इसे भी पढ़ें: खुफिया एजेंसियों ने जारी किया अलर्ट, पीओके में घुसपैठ कर सकते हैं आतंकी 

वहीं श्रीलंका ने इस हमले की निंदा की। श्रीलंकाई विदेश मंत्रालय ने एक बयान में कहा, ‘‘श्रीलंका इस जघन्य हिंसा की निन्दा करता है और किसी भी तरह की मदद के लिए न्यूजीलैंड के अधिकारियों का सहयोग करने को तैयार है।’’






Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

अंतर्राष्ट्रीय

झरोखे से...