इजराइली विदेश मंत्री ने एस जयशंकर से की बात, कोरोना के खिलाफ जंग में सहयोग को मजबूत करने का किया वादा

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  जुलाई 27, 2020   08:49
इजराइली विदेश मंत्री ने एस जयशंकर से की बात, कोरोना के खिलाफ जंग में सहयोग को मजबूत करने का किया वादा

इजराइली विदेश मंत्री ने भारत के विदेश मंत्री का सहयोग के लिए आभार जताया और यथाशीघ्र मिलने पर सहमति जताई। इससे पहले जयशंकर ने ट्वीट कर कहा, ‘‘ भारत-इजराइल साझेदारी मौजूदा समय में कोविड-19 की चुनौतियों का मुकाबला पर ध्यान केंद्रित कर रही है।

यरुशलम। इजराइल के विदेश मंत्री गबी अश्केनाजी ने रविवार को अपने भारतीय समकक्ष एस जयशंकर से बातचीत की और उन्होंने कोरोना वायरस महामारी के खिलाफ लड़ाई में सहयोग को और मजबूत करने का वादा किया। दोनों नेताओं की बातचीत ऐसे समय हुई है, जब 30 सेकेंड में कोविड-19 जांच करने में सक्षम जांच किट विकसित करने के लिए इजराइल का उच्च स्तरीय दल नयी दिल्ली के लिए रवाना हुआ है। अश्केनाजी ने ट्वीट किया, ‘‘ मैंने भारत के विदेशमंत्री एस जयशंकर से बात की। मैंने चिकित्सा उपकरण लेकर भारत के लिए रवाना हुए इजरायली उड़ान की जानकारी दी। हम कोरोना वायरस के खिलाफ लड़ाई में अपनी साझेदारी को मजबूत करने पर सहमत हुए हैं।’’

इसे भी पढ़ें: कोरोना वायरस से निपटने में फेल हुई इजराइल की सरकार, प्रधानमंत्री नेतन्याहू के खिलाफ सड़क पर उतरे लोग

इजराइली विदेश मंत्री ने भारत के विदेश मंत्री का सहयोग के लिए आभार जताया और यथाशीघ्र मिलने पर सहमति जताई। इससे पहले जयशंकर ने ट्वीट कर कहा, ‘‘ भारत-इजराइल साझेदारी मौजूदा समय में कोविड-19 की चुनौतियों का मुकाबला पर ध्यान केंद्रित कर रही है। इसके साथ ही सहयोग का वृहद एजेंडा आगे बढ़ता रहेगा। उल्लेखनीय है कि इजराइली प्रतिनिधिमंडल इजराइली रक्षा मंत्रालय के अधीन रक्षा अनुसंधान एवं विकास महानिदेशालय के नेतृत्व में रविवार को दो उड़ानों से भारत के लिए रवाना हुआ। इजराइली प्रतिनिधिमंडल भारत में उसे द्वारा कोविड-19 की जांच के लिए विकसित तकनीक के प्रभाव का आकलन करने के लिए कई जांच करेगा। इजराइल द्वारा विकसित इस पद्धति से एक मिनट के भीतर संक्रमण का पता लगाया जा सकता है। इजराइली प्रतिनिधिमंडल में करीब 20 विशेषज्ञ शामिल हैं, जिनमें से रक्षा मंत्रालय, विदेश एवं स्वास्थ्य मंत्रालयों से लेकर इजराइली रक्षा बलों एवं विभिन्न उद्योगों से जुड़े विशेषज्ञ हैं। वे इस जांच किट को विकसित करने में शामिल रहे हैं।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।