जापान ने दक्षिण कोरिया के चिप, स्मार्टफोन सामग्री के निर्यात पर नियम कड़े किए

By प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क | Publish Date: Jul 1 2019 4:23PM
जापान ने दक्षिण कोरिया के चिप, स्मार्टफोन सामग्री के निर्यात पर नियम कड़े किए
Image Source: Google

कंपनियों को आदेश दिया है कि वह युद्ध के समय करवाई गई मजदूरी के लिए लोगों को मुआवजा दे। यह एक ऐसा मुद्दा है जिसके बारे में जापान कहता रहा है कि दशकों पहले जब दोनों देशों के बीच कूटनीतिक संबंधों बहाल हुए थे, तब इनका समाधान हो गया था।

तोक्यो। जापान ने दक्षिण कोरिया को निर्यात किए जाने वाले कई सामानों पर नियमों को कड़ा कर दिया है। इनमें चिप और स्मार्टफोन उत्पादन में उपयोग होने वाले कई रसायन शामिल है। नए नियम चार जुलाई से प्रभावी होंगे। दक्षिण कोरिया की अदालत ने जापानी कंपनियों को आदेश दिया है कि वह युद्ध के समय करवाई गई मजदूरी के लिए लोगों को मुआवजा दे। यह एक ऐसा मुद्दा है जिसके बारे में जापान कहता रहा है कि दशकों पहले जब दोनों देशों के बीच कूटनीतिक संबंधों बहाल हुए थे, तब इनका समाधान हो गया था।



जापान के अर्थ, व्यापार एवं उद्योग (मेटी) मंत्रालय ने यहां घोषणा की, निर्यात नियंत्रण प्रणाली अंतरराष्ट्रीय संबंधों के भरोसे पर तैयार की गयी है। मेटी ने कहा कि संबंधित मंत्रालयों की समीक्षा के बाद यह जरूर कहना होगा कि जापान और दक्षिण कोरिया के संबंधों के बीच भरोसे को काफी नुकसान पहुंचा है। ये नए प्रतिबंध तीन रसायनों के साथ-साथ विनिर्माण प्रौद्योगिकी के हस्तांतरण पर भी लागू होंगे। इन्हें त्वरित निर्यात वाली वस्तुओं की सूची से हटाया जा रहा है।

इसे भी पढ़ें: G20 शिखर सम्मेलन में नेताओं ने किया महिला सशक्तिकरण का समर्थन

स्थानीय मीडिया के अनुसार अब निर्यातकों को इन वस्तुओं के दक्षिण कोरिया निर्यात किए जाने वाले प्रत्येक खेप के लिए अनुमति लेनी होगी। इस प्रक्रिया में हर बार करीब 90 दिन का समय लगता है। इसी के साथ मेटी ने दक्षिण कोरिया को ‘श्वेत’ देशों की सूची से बाहर निकालने की कवायद भी शुरू कर दी है। ‘श्वेत’ सूची में ऐसे देश शामिल होते हैं जिन्हें निर्यात करने और प्रौद्योगिकी हस्तांतरण के लिए न्यूनतम प्रतिबंधों का सामना करना पड़ता है।

रहना है हर खबर से अपडेट तो तुरंत डाउनलोड करें प्रभासाक्षी एंड्रॉयड ऐप