किम जोंग ने चीन के राष्ट्रपति शी चिनफिंग से की मुलाकात

kim-jong-un-meets-china-s-president-xi-jinping
चीन के सरकारी प्रसारणकर्ता सीसीटीवी के अनुसार उत्तर कोरिया के नेता ने कहा कि उत्तर कोरिया धैर्यवान रहना चाहेगा लेकिन उसे उम्मीद है कि संबंधित पक्ष उत्तर कोरिया के साथ समाधान योजना को तैयार करेगा जो एक-दूसरे की चिंताओं का हल करने में मदद करेगा।

 बीजिंग। उत्तर कोरिया के नेता किम जोंग उन ने प्योंगयांग में चीन के राष्ट्रपति शी चिनफिंग से मुलाकात की और कहा कि उनका देश अमेरिका के साथ रूकी हुई परमाणु वार्ता पर अपेक्षित प्रतिक्रिया चाहता है। चीन के सरकारी प्रसारणकर्ता सीसीटीवी के अनुसार उत्तर कोरिया के नेता ने कहा कि उत्तर कोरिया धैर्यवान रहना चाहेगा लेकिन उसे उम्मीद है कि संबंधित पक्ष उत्तर कोरिया के साथ समाधान योजना को तैयार करेगा जो एक-दूसरे की चिंताओं का हल करने में मदद करेगा।

बीते 14 वर्षों के दौरान किसी चीनी राष्ट्राध्यक्ष का यह पहला उत्तर कोरियाई दौरा है। इस यात्रा से अमेरिका और उत्तर कोरिया के बीच परमाणु हथियारों को लेकर हो रही वार्ता जो अटकी पड़ी हुई है, वह फिर से शुरू हो सकती है। शी ने इस मुद्दे को ‘बेहद पेंचीदा और संवेदनशील’ बताते हुए कहा कि उनकी सरकार कोरियाई प्रायद्वीप का परमाणु निरस्त्रीकरण में महत्वपूर्ण भूमिका निभाने को तैयार है।

सीसीटीवी के अनुसार उन्होंने कहा कि अंतरराष्ट्रीय समुदाय अमेरिका और उत्तर कोरिया के बीच वार्ता जारी रहने और इसके लक्ष्य की प्राप्ति की इच्छा रखता है।

इसे भी पढ़ें: ट्रंप के साथ वार्ता से पहले किम जोंग से मिलने उत्तर कोरिया पहुंचे चीनी राष्ट्रपति

यह वार्ता ऐसे समय में हुई है जब दोनों देशों का अमेरिका के साथ अलग-अलग मामलों को लेकर विवाद चल रहा है। चीन का विवाद कारोबार को लेकर है और उत्तर कोरिया का परमाणु हथियारों को लेकर है। चीन की सरकारी मीडिया ने बताया कि किम ने प्योंगयांग हवाई अड्डे पर शी का स्वागत किया। शी के साथ उनकी पत्नी पेंग लियुआंन,विदेश मंत्री वांग यी तथा अन्य अधिकारी मौजूद थे। प्योंगयांग में जगह-जगह चीनी झंडे लगे हुए थे और कतारबद्ध स्थानीय लोग सड़क के किनारे शी के स्वागत में खड़े थे। सत्ताधारी पार्टी के मुखपत्र रोडोंग सिनमुन अखबार में मुखपृष्ठ के ऊपरी आधे पन्ने पर शी से जुड़ी खबरें और तस्वीर प्रकाशित की गई है।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


अन्य न्यूज़