नवाज शरीफ को इलाज के लिए ब्रिटेन जाने देना एक गलती थी: इमरान खान

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  अगस्त 29, 2020   09:00
नवाज शरीफ को इलाज के लिए ब्रिटेन जाने देना एक गलती थी: इमरान खान

लाहौर उच्च न्यायालय ने शरीफ (70) को उपचार के वास्ते चार सप्ताह के लिए विदेश जाने की अनुमति दी थी जिसके बाद उन्हें पिछले साल नवंबर में लंदन जाने की इजाजत दी गई थी।

इस्लामाबाद। पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने कहा है कि पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ को देश छोड़ने और उपचार के लिए ब्रिटेन जाने की अनुमति देना एक “गलती” थी और उनकी (खान) सरकार को इस फैसले पर “अफसोस” है। लाहौर उच्च न्यायालय ने शरीफ (70) को उपचार के वास्ते चार सप्ताह के लिए विदेश जाने की अनुमति दी थी जिसके बाद उन्हें पिछले साल नवंबर में लंदन जाने की इजाजत दी गई थी। शरीफ ने कानून व्यवस्था का पालन करने के अपने इतिहास का हवाला देते हुए अदालत में हलफनामा दायर किया था और कहा था कि वह चार सप्ताह के भीतर या डॉक्टरों द्वारा स्वस्थ घोषित किए जाने पर पाकिस्तान लौट आएंगे।

एआरवाई न्यूज को बृहस्पतिवार को दिए अपने साक्षात्कार में खान ने कहा कि शरीफ को पाकिस्तान जाने की अनुमति देना उनकी एक “गलती” थी। उन्होंने कहा कि उनकी सरकार को शरीफ पर से पाबंदियां हटाने का “अफसोस” है। खान ने कहा, “अब मैं शर्मिंदा हूं। अब उन्होंने (शरीफ) वहां से भी राजनीति करनी शुरू कर दी है और जब आप उन्हें देखेंगे तो लगेगा जैसे उनके साथ कुछ हुआ ही नहीं है।” मई में सोशल मीडिया पर शरीफ की एक ताजा तस्वीर वायरल हुई थी जिसमें वह लंदन के एक कैफे में अपने परिवार के साथ चाय पीते नजर आ रहे हैं। इस तस्वीर के वायरल होने के बाद शरीफ के स्वास्थ्य को लेकर चर्चा शुरू हो गई थी और सत्ताधारी दल तहरीक-ए-इंसाफ के सदस्यों ने उन्हें वापस पाकिस्तान लाकर भ्रष्टाचार के मामला चलाने की मांग उठाई थी। पिछले सप्ताह शरीफ की कुछ और तस्वीरें सामने आईं जिसमें वह सड़क पर चलते दिख रहे हैं। इसके बाद सरकार को कड़ी आलोचनाओं का शिकार होना पड़ा है और लोगों ने शरीफ को वापस लाने की मांग की है। 

इसे भी पढ़ें: बेबस हुआ पाकिस्तान, कश्मीर पर OIC का नहीं मिला साथ, सऊदी अरब ने दिखाए तल्ख तेवर

खान ने कहा कि शरीफ को रोग प्रतिरोधक तंत्र में बीमारी की शिकायत थी और मंत्रिमंडल में उनकी बीमारी पर चर्चा की गई थी और उन्हें इलाज के लिए जाने की इजाजत देने का निर्णय लिया गया था। खान ने कहा कि अदालत ने भी यह कहा था कि यदि शरीफ को कुछ हो गया तो इसकी जिम्मेदार सरकार होगी। प्रधानमंत्री ने कहा कि शरीफ के छोटे भाई शहबाज ने सात अरब रुपये के क्षतिपूर्ति बांड जमा किए थे और वचन दिया था कि उनके भाई वापस आएंगे। खान ने कहा, “हम जो कर सकते थे हमने किया लेकिन हमें यह बताया गया था कि यदि हमने कुछ नहीं किया तो नवाज की मौत हो जाएगी। हमसे कहा गया था कि अगर नवाज को कुछ हो गया तो उसके जिम्मेदार हम होंगे। इसलिए हमने अच्छी नीयत से उन्हें जाने दिया।” यह पूछे जाने पर कि क्या इस बात की जांच की जाएगी कि शरीफ ने अपने स्वास्थ्य संबंधी “फर्जी” रिपोर्ट प्रस्तुत की, खान ने कहा कि वह इस संबंध में पंजाब के स्वास्थ्य मंत्री यास्मीन राशिद के संपर्क में हैं।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।



Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

अंतर्राष्ट्रीय

झरोखे से...