पूर्वी इंडोनेशिया में 7.2 की तीव्रता का earthquake, सुनामी की चेतावनी नहीं

earthquake
प्रतिरूप फोटो
Google Creative Commons
अमेरिकी भूवैज्ञानिक सर्वेक्षण के अनुसार, भूकंप की तीव्रता 7.2 थी। इसका केंद्र उत्तरी मलुकु प्रांत में टोबेलो के उत्तर-पश्चिम में 150 किलोमीटर पर समुद्र में 60 किलोमीटर की गहराई पर था। इंडोनेशिया की मौसम विज्ञान, जलवायु विज्ञान व भूभौतिकी एजेंसी ने सुनामी की कोई चेतावनी जारी नहीं की है।

पूर्वी इंडोनेशिया में बुधवार को जोरदार भूकंप के झटके महसूस किया। हालांकि तत्काल किसी तरह के नुकसान की कोई खबर नहीं है और सुनामी की चेतावनी भी जारी नहीं की गई है। स्थानीय लोग घबराकर घरों से बाहर भी निकल आए। अमेरिकी भूवैज्ञानिक सर्वेक्षण के अनुसार, भूकंप की तीव्रता 7.2 थी। इसका केंद्र उत्तरी मलुकु प्रांत में टोबेलो के उत्तर-पश्चिम में 150 किलोमीटर पर समुद्र में 60 किलोमीटर की गहराई पर था। इंडोनेशिया की मौसम विज्ञान, जलवायु विज्ञान व भूभौतिकी एजेंसी ने सुनामी की कोई चेतावनी जारी नहीं की है।

होनोलूलू में प्रशांत सुनामी चेतावनी केंद्र ने पहले कहा था कि पास के इंडोनेशियाई तटों के लिए एक संभावित खतरा है लेकिन जल्द ही उसने वह नोटिस वापस ले लिया। इससे पहले बुधवार को सुबह भी पूर्वी इंडोनेशिया में 6.1 की तीव्रता का भूकंप आया था। अमेरिकी भूवैज्ञानिक सर्वेक्षण के अनुसार, इस भूकंप का केंद्र गोरोन्तालो के 65 किलोमीटर दक्षिण-दक्षिण पूर्व में समुद्र में 147 किलोमीटर की गहराई पर था।

गोरोन्तालो, उत्तरी सुलावेसी, उत्तरी मलुकु और मध्य सुलावेसी प्रांत में इसके झटके महसूस किए गए। इंडोनेशिया की मौसम विज्ञान, जलवायु विज्ञान व भूभौतिकी एजेंसी ने सुनामी की कोई चेतावनी जारी नहीं की है। प्रशांत महासागर में ‘रिंग ऑफ फायर’ पर इंडोनेशिया की स्थिति के कारण यहां भूकंप का खतरा अधिक रहता है। गौरतलब है कि पश्चिम जावा के सियानजुर शहर में 21 नवंबर को आए 5.6 की तीव्रता वाले भूकंप में कम से कम 331 लोग मारे गए थे और करीब 600 लोग घायल हुए थे।

इससे पहले सुलावेसी में 2018 में आए भूकंप और सुनामी में करीब 4,340 लोग मारे गए थे। वहीं 2004 में हिंद महासागर में एक अत्यंत शक्तिशाली भूकंप के कारण सुनामी आने से एक दर्जन देशों में 2,30,000 से अधिक लोगों की जान गई थी, जिनमें अधिकतर लोग इंडोनेशिया के असेह प्रांत के थे।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


अन्य न्यूज़