महारानी एलिजाबेथ द्वितीय के अंतिम संस्कार में शामिल होने लंदन पहुंच रहे हैं दुनिया भर के नेता

queen elizabeth
प्रतिरूप फोटो
Google Creative Commons
हजारों पुलिसकर्मी, सैकड़ों सैनिक और अधिकारियों की पूरी फौज महारानी एलिजाबेथ द्वितीय के राजकीय अंतिम संस्कार के लिए तैयारियों को मुकम्मल अंजाम तक पहुंचाने में जुटी हुई है। महारानी के अंतिम संस्कार की तैयारियां जहां राष्ट्रीय शोक का उत्कृष्ट प्रदर्शन हैं तो वहीं बीते कुछ सालों में यह विश्व के नेताओं का सबसे बड़ा जमावड़ा भी होगा।

हजारों पुलिसकर्मी, सैकड़ों सैनिक और अधिकारियों की पूरी फौज महारानी एलिजाबेथ द्वितीय के राजकीय अंतिम संस्कार के लिए तैयारियों को मुकम्मल अंजाम तक पहुंचाने में जुटी हुई है। महारानी के अंतिम संस्कार की तैयारियां जहां राष्ट्रीय शोक का उत्कृष्ट प्रदर्शन हैं तो वहीं बीते कुछ सालों में यह विश्व के नेताओं का सबसे बड़ा जमावड़ा भी होगा। अमेरिकी राष्ट्रपति जो. बाइडन और कई अन्य गणमान्य व्यक्ति अंतिम संस्कार के लिए लंदन आ चुके हैं जबकि कई अन्य पहुंच रहे हैं। राजकीय अंतिम संस्कार के कार्यक्रम में दुनिया भर से लगभग 500 राजघरानों, राष्ट्राध्यक्षों और सरकार के प्रमुखों को आमंत्रित किया गया है।

हजारों की संख्या में लोग लंदन में सर्द रात की परवाह किए बगैर संसद के वेस्टमिंस्टर हॉल में ‘लाइंग इन स्टेट’ में रखे महारानी के ताबूत के अंतिम दर्शन करने के लिए पहुंच रहे हैं। इस बीच, अधिकारियों ने शनिवार को कहा कि लोगों को 17 घंटे इंतजार करना पड़ सकता है। महारानी एलिजाबेथ द्वितीय के सभी आठ पोते-पोतियां शनिवार को उनके ताबूत के आसपास मौजूद रहे। प्रिंस विलियम के नेतृत्व में इन सभी लोगों ने दिवंगत महारानी के प्रति सम्मान व्यक्त किया। उनके अंतिम दर्शन करने के इच्छुक लोगों की कई मील लंबी कतार को देखते हुए रविवार शाम तक इसे और आगंतुकों के लिए बंद कर दिए जाने की संभावना है।

इसका मकसद फिलहाल कतार में लगे सभी लोगों को सोमवार सुबह से पहले महारानी के ताबूत के अंतिम दर्शन करने का मौका देना है। सोमवार को महारानी के ताबूत को तोपगाड़ी से अंतिम संस्कार के लिए वेस्टमिंस्टर एबे ले जाया जाएगा। रविवार की रात महारानी की याद में एक मिनट का मौन रखने के दौरान ब्रिटेन में यातायात थम जाएगा। महारानी का आठ सितंबर को 96 वर्ष की उम्र में निधन हो गया था। वह 70 साल तक राजगद्दी पर रहीं। सोमवार को सार्वजनिक अवकाश की घोषणा की गई है और देश भर में टीवी पर तथा पार्कों व सार्वजनिक स्थलों पर बड़े स्क्रीन के माध्यम से अंतिम संस्कार का सीधा प्रसारण किया जाएगा।

लंदन के इतिहास में एक दिन के सबसे बड़े पुलिस अभियान के तहत हजारों पुलिस अधिकारी ड्यूटी पर तैनात रहेंगे। क्वीन कंसोर्ट कैमिला ने एक वीडियो संदेश में महारानी को श्रद्धांजलि देते हुए कहा कि महारानी ने पुरुषों के प्रभाव वाली दुनिया में एकमात्र महारानी के तौर पर “अपनी खुद की भूमिका गढ़ी”। महाराजा चार्ल्स तृतीय से विवाह करने वाली कैमिला ने कहा, “मैं हमेशा उनकी मुस्कान याद करूंगी। वो मुस्कान अविस्मरणीय है।” बुधवार को हॉल में पहली बार लोगों को प्रवेश दिए जाने के बाद से भीड़ बढ़ती जा रही है।

हॉल से लेकर साउथवार्क पार्क के आसपास तक कम से कम आठ किमी लंबी कतार लगी हुई है। लोगों के धैर्य का सम्मान करते हुए महाराजा चार्ल्स तृतीय और उनके सबसे बड़े बेटे राजकुमार विलियम ने इंतजार कर रहे लोगों को धन्यवाद देने के लिए शनिवार को अघोषित दौरा किया। शाही परिवार के दो वरिष्ठ सदस्यों ने लाम्बर्थ ब्रिज के पास लगी काफी लंबी कतार में शामिल लोगों से हाथ मिलाया और धन्यवाद दिया। बाद में, महारानी के सभी नाती-पोते उनके ताबूत के पास खड़े हुए। चार्ल्स के बेटे विलियम और राजकुमार हैरी तथा राजकुमारी ऐन के बच्चे जारा टिंडआल और पीटर फिलिप्स इसमें शामिल हुए।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


अन्य न्यूज़