कोरोना वायरस: खैबर पख्तूनख्वा में अल्पसंख्यक समुदाय को धार्मिक स्थलों में पूजा की अनुमति

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  मई 29, 2020   19:46
कोरोना वायरस: खैबर पख्तूनख्वा में अल्पसंख्यक समुदाय को धार्मिक स्थलों में पूजा की अनुमति

खैबर पख्तूनख्वा में अल्पसंख्यक समुदाय को धार्मिक स्थलों में पूजा की अनुमति दी गई है।कोरोना वायरस प्रसार के मद्देनजर कई प्रांत की सरकारों ने धार्मिक स्थलों पर पांच से अधिक लोगों के एकत्र होने पर प्रतिबंध लगाया हुआ है।

पेशावर। पाकिस्तान के खैबर पख्तूनख्वा प्रांत में शुक्रवार को हिंदू और सिख जैसे अल्पसंख्यक समुदाय के लोगों को अपने धार्मिक स्थलों में जाकर पूजा और प्रार्थना करने की अनुमति दी गयी। हालांकि, इस दौरान सभी को सामाजिक दूरी के नियमों का पालन करने के साथ ही कोरोना वायरस के प्रसार की रोकथाम के लिए लागू अन्य उपायों का भी पालन करना होगा। कोरोना वायरस प्रसार के मद्देनजर कई प्रांत की सरकारों ने धार्मिक स्थलों पर पांच से अधिक लोगों के एकत्र होने पर प्रतिबंध लगाया हुआ है।

इसे भी पढ़ें: इमरान सरकार का फैसला, पाकिस्तान में नहीं लगेगा सख्त लॉकडाउन

पाकिस्तान में अब तक 64,000 से अधिक लोग संक्रमण की चपेट में हैं जबकि 1,346 मरीजों की मौत हो चुकी है। मौलानों के दबाव बनाने के बाद इमरान खान सरकार ने रमजान के महीने में कुछ शर्तों के साथ मस्जिदों में जमात के साथ नमाज अदा करने की अनुमति दे दी थी। खैबर पख्तूनख्वा सरकार ने शुक्रवार को हिंदू, सिख और ईसाई जैसे अल्पसंख्यक समुदाय के लोगों को धार्मिक स्थलों में जा कर पूजा-प्रार्थना करने की अनुमति दे दी। इस दौरान उन्हें खैबर पख्तूनख्वा प्रांत की सरकार की ओर से कोविड-19 के तहत जारी मानक संचालन प्रक्रिया का पालन करना होगा। राहत एवं पुनर्वास विभाग के प्रवक्ता ने कहा कि फर्श पर कालीन बिछाने की इजाजत नहीं होगी। साथ ही वरिष्ठ नागरिकों और छोटे बच्चों को धार्मिक स्थलों में लाने की इजाजत नहीं होगी।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।