नेपाल निर्वाचन आयोग का बड़ा फैसला, सात राजनीतिक दलों को राष्ट्रीय पार्टी का दर्जा दिया गया

election comission
Creative Commons licenses
नेपाल के निर्वाचन आयोग ने शुक्रवार को कहा कि नवगठित राष्ट्रीय स्वतंत्र पार्टी सहित सात राजनीतिक दलों को राष्ट्रीय पार्टी का दर्जा दिया गया है। नेपाल में राष्ट्रीय पार्टी का दर्जा हासिल करने के लिए आनुपातिक प्रतिनिधित्व वोट का तीन प्रतिशत हासिल करना अनिवार्य है।

काठमांडू। नेपाल के निर्वाचन आयोग ने शुक्रवार को कहा कि नवगठित राष्ट्रीय स्वतंत्र पार्टी सहित सात राजनीतिक दलों को राष्ट्रीय पार्टी का दर्जा दिया गया है। नेपाल में राष्ट्रीय पार्टी का दर्जा हासिल करने के लिए आनुपातिक प्रतिनिधित्व वोट का तीन प्रतिशत हासिल करना अनिवार्य है। ‘काठमांडू पोस्ट’ अखबार ने निर्वाचन आयोग के प्रवक्ता गुरु प्रसाद वागले के हवाले से कहा कि कम्युनिस्ट पार्टी ऑफ नेपाल (यूनीफाइड मार्क्सिस्ट-लेनिनिस्ट) (सीपीएन-यूएमएल), नेपाली कांग्रेस, सीपीएन (माओइस्ट सेंटर), राष्ट्रीय स्वतंत्र पार्टी (आरएसपी), राष्ट्रीय प्रजातंत्र पार्टी, जनता समाज पार्टी और जनमत पार्टी को राष्ट्रीय दल का दर्जा दिया गया है। 

2017 में निर्वाचित पिछली प्रतिनिधि सभा में छह राजनीतिक दलों-नेपाली कांग्रेस, सीपीएन-यूएमएल, सीपीएन (माओवादी सेंटर), सीपीएन (यूनिफाइड सोशलिस्ट), जनता समाजबादी पार्टी और लोकतांत्रिक समाजवादी पार्टी को राष्ट्रीय पार्टी का दर्जा हासिल था। नेपाली कांग्रेस प्रतिनिधि सभा के लिए हुए सीधे चुनावों में 55 सीटें जीतकर संसदीय चुनावों में अब तक की सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरी है। वहीं, विपक्षी दल सीपीएन-यूएमएल को 44 सीटों पर जीत हासिल हुई है। फिलहाल 162 सीटों के चुनाव परिणाम घोषित किए जा चुके हैं। 

275 सदस्यीय प्रतिनिधि सभा में 165 सदस्य प्रत्यक्ष मतदान, जबकि शेष 110 आनुपातिक चुनाव प्रणाली के माध्यम से चुने जाएंगे। सरकार गठन के लिए किसी भी पार्टी को कम से कम 138 सीटों की जरूरत पड़ेगी। आनुपातिक चुनाव प्रणाली के तहत सीपीएन-यूएमएल को सबसे अधिक 27,73,999 वोट मिले हैं। इसके बाद नेपाली कांग्रेस का स्थान आता है, जिसे 26,44,241 वोट हासिल हुए हैं। इसी तरह, सीपीएन (माओवादी सेंटर) को 11,61,256 और आरएसपी को 11,19,996 वोट मिले हैं। वहीं, आरपीपी, जेएसपी और जनमत पार्टी को क्रमश: 5,85,921 वोट, 4,20,931 वोट और 3,94,345 वोट हासिल हुए हैं।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


अन्य न्यूज़