न्यूजीलैंड और फ्रांस ऑनलाइन अतिवाद को समाप्त करने की दिशा में बढ़ाएगा कदम

By प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क | Publish Date: Apr 24 2019 3:04PM
न्यूजीलैंड और फ्रांस ऑनलाइन अतिवाद को समाप्त करने की दिशा में बढ़ाएगा कदम
Image Source: Google

अर्डर्न ने कहा कि क्राइस्टचर्च में 15 मार्च को दो मस्जिदों में हुए हमले में सोशल मीडिया का इस्तेमाल आतंकवाद और घृणा को प्रोत्साहित करने के जरिए के तौर पर असाधारण तरीके से इस्तेमाल किया गया।

वेलिंगटन। न्यूजीलैंड और फ्रांस ने आतंकवाद और हिंसा को बढ़ावा देने एवं प्रायोजित करने की सोशल मीडिया की क्षमता समाप्त करने की कोशिश के तहत देशों और तकनीक कंपनियों को एक साथ लाने के लिए बुधवार को एक संयुक्त प्रयास की घोषणा की। यह बैठक 15 मई को पेरिस में होगी और न्यूजीलैंड की प्रधानमंत्री जैसिंडा अर्डर्न और फ्रांस के राष्ट्रपति एमैनुएल मैक्रों इसकी सह-अध्यक्षता करेंगे।

भाजपा को जिताए

इसे भी पढ़ें: पीसबिल्डिंग कमीशन ने श्रीलंका में हुए 'अमानवीय' आतंकवादी हमलों की निंदा की

अर्डर्न ने कहा कि क्राइस्टचर्च में 15 मार्च को दो मस्जिदों में हुए हमले में सोशल मीडिया का इस्तेमाल आतंकवाद और घृणा को प्रोत्साहित करने के जरिए के तौर पर असाधारण तरीके से इस्तेमाल किया गया। इस हमले में 50 मुसलमानों की मौत हो गई थी। हमलावर ने इन हमलों का इंटरनेट पर सीधा प्रसारण किया था।
 


 
अर्डर्न ने कहा की हमने तकनीक कंपनियों के प्रमुखों से पेरिस में क्राइस्टचर्च शिखर सम्मेलन में ऑनलाइन हिंसक अतिवाद को समाप्त करने के हमारे लक्ष्य को हासिल करने में मदद करने और हमारे साथ जुड़ने की अपील की है। इस बैठक के साथ साथ 15 मई को जी7 डिजिटल मंत्रियों की ‘टेक फॉर ह्यूमैनिटी’ बैठक होगी और फ्रांस का भी एक अलग ‘टेक फॉर गुड’ शिखर सम्मेलन होगा।

रहना है हर खबर से अपडेट तो तुरंत डाउनलोड करें प्रभासाक्षी एंड्रॉयड ऐप   


Related Story