न्यूजीलैंड मस्जिद हमले के बाद सरकार लोगों से बंदूकों को वापस खरीदेगी

new-zealand-government-plans-to-buy-back-guns-after-killing-in-mosque
प्रधानमंत्री जैसिंडा अर्डर्न ने 15 मार्च को हुए हमलों के बाद न्यूजीलैंड के हथियार कानून को सख्त बनाने का संकल्प लिया था और उनकी सरकार ने इन तीन महीनों के दौरान इसपर काफी तेजी से काम किया है।

वेलिंगटन। न्यूजीलैंड की सरकार ने क्राइस्टचर्च में मस्जिद पर हुए हमलों के बाद देश में खतरनाक हथियारों पर लगाम लगाने के मकसद से बृहस्पतिवार को बंदूकों को वापस खरीदने की योजना शुरू कर दी। क्रास्टचर्च हमलों में 51 नमाजियों की हत्या कर दी गई थी।

इसे भी पढ़ें: न्यूजीलैंड बनाम दक्षिण अफ्रीका: डिकॉक ने खिलाड़ियों को दी संयम बरतने की सलाह

प्रधानमंत्री जैसिंडा अर्डर्न ने 15 मार्च को हुए हमलों के बाद न्यूजीलैंड के हथियार कानून को सख्त बनाने का संकल्प लिया था और उनकी सरकार ने इन तीन महीनों के दौरान इसपर काफी तेजी से काम किया है। पुलिस मंत्री स्टुअर्ट नैश ने कहा,  वापस खरीद की इस योजना का एकमात्र उद्देश्य अलनूर और लिकुड मस्जिदों में हुई मौतों के बाद खतरनाक हथियारों के प्रसार को रोकना है।

इसे भी पढ़ें: फील्डिंग में सबसे ज्यादा मेहनत करने वाले खिलाड़ी हैं जसप्रीत बुमराह 

लाइसेंसी हथियार रखने वालों के पास अपने हथियार जमा कराने के लिये छह महीने का समय है। नयी योजना के तहत अब हथियार रखना अवैध है और इस अवधि के दौरान हथियार जमा कराने वालों पर किसी तरह की कार्रवाई नहीं होगी। ये मोहलत खत्म होने के बाद प्रतिबंधित हथियार रखने पर पांच साल कैद तक की सजा हो सकती है। 

यह भी देखें-

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


अन्य न्यूज़