उत्तर कोरिया ने किया आह्वान- अपनी शत्रुतापूर्ण नीतियां वापस ले अमेरिका

By प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क | Publish Date: Jun 11 2019 4:48PM
उत्तर कोरिया ने किया आह्वान- अपनी शत्रुतापूर्ण नीतियां वापस ले अमेरिका
Image Source: Google

उत्तर कोरियाई आधिकारिक ‘कोरियाई केन्द्रीय समाचार एजेंसी’ (केसीएनए) ने कहा कि ‘‘ऐतिहासिक महत्व की’’ सिंगापुर वार्ता का संयुक्त बयान अब ‘‘मृत दस्तावेज में तब्दील होने के कगार पर है क्योंकि अमेरिका इसे लागू करने को तैयार नहीं है।’’

सियोल। उत्तर कोरिया ने मंगलवार को अमेरिका से आह्वान किया कि वह ‘‘अपनी शत्रुतापूर्ण नीतियां वापस ले।’’ उत्तर कोरिया ने यह टिप्पणी ऐसे समय की जब उसके नेता किम जांग उन और अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के बीच ऐतिहासिक शिखर वार्ता को बुधवार को एक साल पूरा हो रहा है। उत्तर कोरियाई नेता और अमेरिकी राष्ट्रपति के बीच पहली बैठक पिछले साल 12 जून को सिंगापुर में हुई थी जहां उन और ट्रंप ने ‘‘पूर्ण निरस्त्रीकरण’’ हासिल करने के लिए अस्पष्ट शब्दों वाले समझौते पर हस्ताक्षर किये थे।

इसे भी पढ़ें: ट्रंप ने कोरिया के मिसाइल परीक्षण पर कहा, किम जोग पर अब भी भारोसा

लेकिन फरवरी में वियतनाम में हुई दूसरी बैठक बिना किसी नतीजे पर पहुंचे अचानक समाप्त हो गई थी और दोनों नेता इस बात पर सहमत नहीं हुए थे कि प्रतिबंधों से राहत के बदले उत्तर कोरिया को क्या कदम उठाने होंगे। उत्तर कोरियाई आधिकारिक ‘कोरियाई केन्द्रीय समाचार एजेंसी’ (केसीएनए) ने कहा कि ‘‘ऐतिहासिक महत्व की’’ सिंगापुर वार्ता का संयुक्त बयान अब ‘‘मृत दस्तावेज में तब्दील होने के कगार पर है क्योंकि अमेरिका इसे लागू करने को तैयार नहीं है।’’

इसे भी पढ़ें: उत्तर कोरिया के परमाणु कार्यक्रम पर वार्ता के लिए दक्षिण कोरिया जाएंगे ट्रम्प



इसमें कहा गया कि अमेरिका की ‘‘घमंडी और एकपक्षीय नीति’’ उत्तर कोरिया के साथ कभी भी काम नहीं करेगी। पिछले महीने, क्षेत्र में तनाव उस समय पैदा हो गया था जब उत्तर कोरिया ने नवंबर 2017 के बाद पहली बार कम दूरी की मिसाइल दागी थीं। दक्षिण कोरिया की योनहप समाचार एजेंसी के अनुसार, एक साल पहले सिंगापुर में बैठक में अहम भूमिका निभाने वाले दक्षिण कोरियाई राष्ट्रपति मून जेइ इन ने सोमवार को कहा था कि तीसरी उत्तर कोरिया-अमेरिका बैठक के लिए बातचीत चल रही है।

 

रहना है हर खबर से अपडेट तो तुरंत डाउनलोड करें प्रभासाक्षी एंड्रॉयड ऐप   


Related Story