संयुक्त राष्ट्र शांतिरक्षण मिशन में महिला कर्मियों की संख्या बढ़ानी जरूरी : भारतीय कमांडर

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  मई 25, 2020   11:25
संयुक्त राष्ट्र शांतिरक्षण मिशन में महिला कर्मियों की संख्या बढ़ानी जरूरी : भारतीय कमांडर

कांगो गणराज्य में संयुक्त राष्ट्र संगठन स्थिरीकरण मिशन (मोनूस्को) के भारतीय महिला कार्य दल (एफईटी) की कमांडर, कैप्टन प्रीति शर्मा ने सेक टाउन से वीडियो साक्षात्कार में बताया कि संयुक्त राष्ट्र के कुल सैन्य शांतिरक्षकों में महिलाओं का प्रतिनिधित्व केवल चार प्रतिशत है।

संयुक्त राष्ट्र। कांगो में तैनात भारतीय महिला कमांडर ने कहा है कि संयुक्त राष्ट्र शांतिरक्षण मिशनों में वर्दीधारी महिला कर्मियों की संख्या बढ़ाने के लिए प्रयास किए जाने चाहिए। उन्होंने इस बात पर खास जोर दिया कि ऐसी महिलाएं हर कहीं लड़कियों एवं महिलाओं के लिए अनुकरणीय हैं। कांगो गणराज्य में संयुक्त राष्ट्र संगठन स्थिरीकरण मिशन (मोनूस्को) के भारतीय महिला कार्य दल (एफईटी) की कमांडर, कैप्टन प्रीति शर्मा ने सेक टाउन से वीडियो साक्षात्कार में बताया कि संयुक्त राष्ट्र के कुल सैन्य शांतिरक्षकों में महिलाओं का प्रतिनिधित्व केवल चार प्रतिशत है। उन्होंने कहा, “वर्तमान में, संयुक्त राष्ट्र में महिला शांतिरक्षकों की संख्या बहुत कम है। अगर आपको विश्व की 50 प्रतिशत आबादी को देखना है तो यह बहुत जरूरी है कि वर्दीधारक महिला शांतिरक्षकों की संख्या बढ़ाई जाए ताकि संयुक्त राष्ट्र मिशन महिलाओं एवं लड़कियों के सामने आने वाली चुनौतियों का प्रभावी ढंग से निपटान कर सकें।” शर्मा ने कहा, “कोई भी पक्षी एक पंख के सहारे उड़ान नहीं भर सकता।

इसे भी पढ़ें: कोरोना के कारण राष्ट्रपति ट्रंप ने ब्राजील पर लगाया यात्रा प्रतिबंध

अगर महिलाएं सशक्त नहीं होंगी और उनका उत्थान नहीं किया जाएगा तो समाज के लिए प्रगति करना संभव नहीं।” भारत से एफईटी में 22 महिला शांतिरक्षक हैं और इसकी शुरुआत पिछले साल जून में ‘मोनूस्को’ में तैनाती के साथ हुई थी जिसे संयुक्त राष्ट्र के तहत सबसे चुनौतीपूर्ण शांतिरक्षण मिशन माना जाता है। शर्मा ने बताया कि यह पहली बार है जब भारत से महिला कार्य दल को संयुक्त राष्ट्र मिशन में भेजा गया है। उन्होंने बताया कि एफईटी, ‘‘पुलिस की इकाई नहीं बल्कि सेना के साथ संलग्न है। हम दूर-दराज इलाकों में वही काम कर रहे हैं जो कोई सेना करती है।’’ भारत संयुक्त राष्ट्र शांतिरक्षण मिशन में वर्दीधारक कर्मियों की संख्या के लिहाज से पांचवे नंबर पर आता है। वर्तमान में अबेयी, साइप्रस, कांगो, लेबनान, पश्चिम एशिया, सूडान, दक्षिण सूडान और पश्चिमी सहारा में शांतिरक्षण अभियानों में भारत के 5,400 सैन्य एवं पुलिसकर्मी तैनात हैं। साथ ही सोमालिया में संयुक्त राष्ट्र सहायता मिशन में एक विशेषज्ञ भी है।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।