• पाक ने जम्मू-कश्मीर के नेताओं के साथ प्रधानमंत्री मोदी की बैठक को नाटक’बताया

पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की जम्मू-कश्मीर के शीर्ष राजनीतिक नेताओं के साथ बैठक को शुक्रवार को नाटक और पीआर कवायद’’ बताया।

इस्लामाबाद। पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की जम्मू-कश्मीर के शीर्ष राजनीतिक नेताओं के साथ बैठक को शुक्रवार को नाटक और पीआर कवायद’’ बताया। प्रधानमंत्री मोदी ने बृहस्पतिवार को जम्मू-कश्मीर के प्रमुख नेताओं के साथ बातचीत की थी और उनसे कहा था कि केंद्र की प्राथमिकता वहां जमीनी स्तर पर लोकतंत्र को मजबूत करना है। कुरैशी ने जम्मू-कश्मीर पर नयी दिल्ली में हुयी उच्चस्तरीय बैठक के एक दिन बाद कहा, मेरे विचार से यह एक नाटक था और यह नाटक क्यों था? क्योंकि इसे अधिक से अधिक जनसंपर्क कवायद कहा जा सकता है, लेकिन कुछ हासिल नहीं हुआ।

इसे भी पढ़ें: भाजपा मुख्यालय में पार्टी के शीर्ष नेताओं के बीच मंथन, अमित शाह सहित कई मंत्री हुए शामिल

कुरैशी ने कहा कि उस बैठक में कश्मीरी नेताओं ने एक स्वर से राज्य का दर्जा बहाल करने की मांग की।’’ उन्होंने कहा, नेताओं को उनकी मांग का कोई ठोस जवाब नहीं मिला और इसके बजाय कहा गया कि कश्मीर का विशेष दर्जा बहाल करने के बारे में उचित समय पर फैसला किया जाएगा, जो एक अस्पष्ट बयान है। उन्होंने कहा कि ऑल पार्टी हुर्रियत कॉन्फ्रेंस नेतृत्व को बैठक में आमंत्रित नहीं किया गया था।

इसे भी पढ़ें: मथुरा वाणिज्य कर टीम के साथ हुई घटना में मामला दर्ज, वाहन चालकों से पूछताछ जारी

कुरैशी ने दावा किया कि भारत कश्मीर में जनसांख्यिकीय बदलाव का प्रयास कर रहा है जो पाकिस्तान के लिए चिंता का विषय है क्योंकि इसके दीर्घकालिक प्रभाव होंगे। भारत के साथ परदे के पीछे की कूटनीति के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने कहा कि भारत के साथ ऐसा कोई संवाद नहीं चल रहा है, लेकिन उन्होंने पुष्टि की कि खुफिया स्तर पर संपर्क हुआ है। उन्होंने कहा, कोई ‘बैक-डोर चैनल’ नहीं है, लेकिन खुफिया स्तर पर क्षेत्रीय स्थिति को लेकर संपर्क है, लेकिन कोई ‘बैक-डोर चैनल’ नहीं है।