• कोरोना की चौथी लहर की चपेट में आ सकता है पाकिस्तान, कोरोना प्रोटोकॉल का नहीं हो रहा सही से पालन

कोरोना महामारी से संघर्ष के लिये गठित शीर्ष इकाई राष्टीय कमान एवं अभियान केंद्र (एनसीओसी) के प्रमुख तथायोजना एवं विकास मंत्री असद उमर ने कहा कि एनसीओसी ने ‘‘कृत्रिम बुद्धिमत्ता आधारित रोग मॉडलिंग विश्लेषण’’ की समीक्षा की है।

इस्लामाबाद। पाकिस्तान के शीर्ष कोरोना वायरस संक्रमण निरोधक अधिकारी ने शुक्रवार को चेतावनी दी कि सख्ती से कोरोना प्रोटोकॉल का पालन नहीं किये जाने पर जुलाई में देश में महामारी की चौथी लहर आ सकती है। कोरोना महामारी से संघर्ष के लिये गठित शीर्ष इकाई राष्टीय कमान एवं अभियान केंद्र (एनसीओसी) के प्रमुख तथायोजना एवं विकास मंत्री असद उमर ने कहा कि एनसीओसी ने ‘‘कृत्रिम बुद्धिमत्ता आधारित रोग मॉडलिंग विश्लेषण’’ की समीक्षा की है। उन्होंने ट्वीट कर कहा, ‘‘सख्ती बरतने के कोरोना महामारी के प्रोटोकॉल के पालन एवं टीकाकरण कार्यक्रम के अभाव में देश में जुलाई महीने में महामारी की चौथी लहर आ सकती है।’’ उमर ने कहा, ‘‘इसलिये जितनी जल्दी संभव हो टीकाकरण करवायें और प्रोटोकॉल का पालन करें।’’

इसे भी पढ़ें: बड़ा फैसला, राजनयिकों की सुरक्षा के लिए 650 अमेरिकी सैनिक अफगानिस्तान में बने रहेंगे

यह चेतावनी ऐसे समय में आयी है जब पाकिस्तान में महामारी की तीसरी लहर मार्च की शुरुआत में आने के बाद अप्रैल के मध्य के बाद अपने चरम पर पहुंच गयी थी। पाकिस्तान के राष्ट्रीय स्वास्थ्य सेवा मंत्रालय की रिपोर्ट के अनुसार देश में पिछले 24 घंटे में कोरोना वायरस संक्रमण के 1052 नये मामले सामने आये, जिसके बाद संक्रमितों की कुल संख्या बढ़ कर 952,907 हो गयी जबकि इसी अवधि में देश में 44 मरीजों की मौत हो गयी जिससे मरने वालों की कुल संख्या 22,152 पर पहुंच गयी है। पाक में अब तक टीके की 1.43 करोड़ खुराक दी जा चुकी है और इस साल के अंत तक देश में सात करोड़ लोगों का टीकाकरण करने का लक्ष्य है।