वायुक्षेत्र बंद करने से पाकिस्तान को हुआ अरबों का नुकसान: पाक विमानन मंत्री

By प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क | Publish Date: Jul 19 2019 3:40PM
वायुक्षेत्र बंद करने से पाकिस्तान को हुआ अरबों का नुकसान: पाक विमानन मंत्री
Image Source: Google

पाकिस्तान को फरवरी महीने में बालाकोट हवाई हमले के बाद अपने वायु क्षेत्र को बंद करने से आठ अरब रुपये से अधिक का नुकसान हुआ। शुक्रवार को एक मीडिया रपट में यह बात सामने आयी है। उल्लेखनीय है कि फरवरी में भारतीय वायुसेना ने पुलवामा में हुए आतंकवादी हमले के बाद बालाकोट में स्थित जैश-ए-मोहम्मद के प्रशिक्षण शिविर पर हवाई हमला किया था।

कराची। पाकिस्तान को फरवरी महीने में बालाकोट हवाई हमले के बाद अपने वायु क्षेत्र को बंद करने से आठ अरब रुपये से अधिक का नुकसान हुआ। शुक्रवार को एक मीडिया रपट में यह बात सामने आयी है। उल्लेखनीय है कि फरवरी में भारतीय वायुसेना ने पुलवामा में हुए आतंकवादी हमले के बाद बालाकोट में स्थित जैश-ए-मोहम्मद के प्रशिक्षण शिविर पर हवाई हमला किया था। इसके बाद पाकिस्तान ने 26 फरवरी को अपने वायु क्षेत्र को पूरी तरह से बंद कर दिया था। पाकिस्तान ने इस सप्ताह मंगलवार को असैन्य उड़ानों के लिये अपने वायु क्षेत्र को पुन: खोलने की घोषणा की।

इसे भी पढ़ें: अफगानिस्तान शांति वार्ता के बीच भारत ने कहा, आतंकवाद से जुड़े हर मसले पर हो बातचीत

पाकिस्तान के विमानन मंत्री गुलाम सरवर खान ने यहां नागर विमानन प्राधिकरण के मुख्यालय में एक संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए कहा कि वायुक्षेत्र बंद करने के कारण प्राधिकरण को 8.5 अरब रुपये का नुकसान उठाना पड़ा है। डॉन अखबार ने मंत्री के हवाले से कहा, ‘‘यह हमारे विमानन उद्योग के लिये बड़ा नुकसान है। लेकिन वायु क्षेत्र बंद करने से पाकिस्तान की अपेक्षा भारत को अधिक नुकसान हुआ है। भारत को लगभग दोगुना नुकसान हुआ है। लेकिन अब दोनों पक्षों की ओर से सहृदयता की आवश्यकता है।’’ उन्होंने कहा कि सुरक्षा एजेंसियों को अंतरराष्ट्रीय मानक के अनुकूल बनाने के लिये विमानन नीति 2019 के तहत उन्हें आधुनिक उपकरणों एवं स्कैनरों से लैस किया जाएगा।
 


रहना है हर खबर से अपडेट तो तुरंत डाउनलोड करें प्रभासाक्षी एंड्रॉयड ऐप   


Related Story

Related Video