पाक ने जमात-उद-दावा का मुख्यालय सील किया, 120 संदिग्ध आतंकवादी गिरफ्तार

By प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क | Publish Date: Mar 8 2019 9:09AM
पाक ने जमात-उद-दावा का मुख्यालय सील किया, 120 संदिग्ध आतंकवादी गिरफ्तार
Image Source: Google

पंजाब के गृह विभाग ने गुरूवार को जारी बयान में कहा, ‘राष्ट्रीय कार्य योजना (एनएपी) के तहत सरकार ने लाहौर और मुरीदके में जेयूडी और एफआईएफ के मुख्यालयों को पूरी तरह अपने नियंत्रण में ले लिया है।’

लाहौर। पाकिस्तान में अधिकारियों ने मुंबई हमले के मास्टरमाइंड हाफिज सईद की अगुवाई वाले आतंकवादी संगठन जमात-उद-दावा (जेयूडी) का लाहौर स्थित मुख्यालय और इसकी कथित परमार्थ शाखा फलह-ए-इंसानियत फाउंडेशन (एफआईएफ) के मुख्यालय को सील कर दिया है तथा 120 से अधिक संदिग्ध आतंकवादियों को गिरफ्तार कर लिया है। पंजाब के गृह विभाग ने गुरूवार को जारी बयान में कहा, ‘राष्ट्रीय कार्य योजना (एनएपी) के तहत सरकार ने लाहौर और मुरीदके में जेयूडी और एफआईएफ के मुख्यालयों को पूरी तरह अपने नियंत्रण में ले लिया है।’

भाजपा को जिताए

इसे भी पढ़ें: भारत की मेहनत रंग लाई, हाफिज सईद की अपील को संयुक्त राष्ट्र ने ठुकराया

विभाग ने कहा कि सरकार प्रांत में प्रतिबंधित संगठनों की मस्जिदों, मदरसों और अन्य संस्थाओं का नियंत्रण अपने हाथों में ले रही है। बयान के मुताबिक, ‘हमने प्रतिबंधित संगठनों के खिलाफ कार्रवाई तेज कर दी है।’ पंजाब सरकार के एक आला अधिकारी ने पीटीआई को बताया कि अधिकारियों ने जेडीयू और एफआईएफ के लाहौर स्थित मुख्यालय जामिया मस्जिद कदसिया को सील कर दिया है। अधिकारी ने कहा, ‘पंजाब सरकार ने जेयूडी के मुरीदके मुख्यालय और लाहौर में दो कार्यालयों में कम से कम छह प्रशासक नियुक्त किए हैं।’

अधिकारी ने बताया कि सरकार ने लाहौर से करीब 40 किलोमीटर दूर मुरीदके स्थित जेयूडी के मुख्यालय पर भी पूरा नियंत्रण कर लिया है। हालांकि, गृह विभाग ने इसकी पुष्टि नहीं की। उन्होंने यह भी कहा कि प्रशासन एवं पुलिस के अधिकारी जब इमारत का नियंत्रण अपने हाथों में लेने के लिए वहां पहुंचे तो सईद और उनके समर्थकों ने कोई विरोध नहीं किया। उन्होंने कहा, ‘अपने समर्थकों के साथ सईद जौहर टाउन स्थित अपने आवास के लिए रवाना हो गया।’ 



इसे भी पढ़ें: आतंकवाद पर चौतरफा घिरे पाकिस्तान ने हाफिज सईद के संगठन पर लगाया प्रतिबंध

सईद पर दिसंबर 2008 में संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद ने प्रतिबंध लगाया था। उसे नवंबर 2017 में पाकिस्तान में नजरबंदी से रिहा किया गया था। अमेरिका ने इसे जून 2014 में विदेशी आतंकवादी घोषित किया था। माना जाता है कि जेयूडी लश्कर-ए-तैयबा का मुखौटा संगठन है। अमेरिका इसके प्रमुख सईद को भी वैश्विक आतंकवादी घोषित कर चुका है।



रहना है हर खबर से अपडेट तो तुरंत डाउनलोड करें प्रभासाक्षी एंड्रॉयड ऐप   


Related Story