रूस के हमलों के बाद यूक्रेन के अधिकतर शहरों में बिजली गुल

Ukraine
प्रतिरूप फोटो
Google Creative Commons
ऊर्जा मंत्रालय ने यह जानकारी दी। मंत्रालय ने बुधवार को एक फेसबुक पोस्ट में कहा कि बिजली कर्मचारी आपूर्ति बहाल करने के लिए काम कर रहे हैं ‘‘लेकिन बड़े पैमाने पर हुए नुकसान के मद्देनजरहमें समय की आवश्यकता होगी।’’

यूक्रेन के बुनियादी ढांचों पर बुधवार को नये सिरे से रूसी सैन्य बलों के हमलों के बाद तीन सक्रिय परमाणु ऊर्जा संयंत्रों का ग्रिड से जुड़ाव टूट गया है और देश के अधिकतर हिस्से में बिजली गुल है। ऊर्जा मंत्रालय ने यह जानकारी दी। मंत्रालय ने बुधवार को एक फेसबुक पोस्ट में कहा कि बिजली कर्मचारी आपूर्ति बहाल करने के लिए काम कर रहे हैं ‘‘लेकिन बड़े पैमाने पर हुए नुकसान के मद्देनजरहमें समय की आवश्यकता होगी।’’ यूक्रेन के बुनियादी ढांचों को निशाना बनाकर किए गए हमलों के बाद देश के अधिकतर हिस्सों और पड़ोसी मोल्दोवा क्षेत्र में बिजली आपूर्ति प्रभावित हुई है। कई क्षेत्रों से हमलों की सूचना मिली है।

विभिन्न क्षेत्रों के प्रशासन ने महत्वपूर्ण बुनियादी ढांचे को निशाना बनाए जाने की बात कही है। यूक्रेन की राजधानी कीव में अधिकारियों ने बताया कि दो मंजिला इमारत पर रूसी हमले में तीन लोगों की मौत हो गई और नौ लोग घायल हो गए। रूस पिछले कई हफ्तों से पावर ग्रिड और अन्य ढांचों को निशाना बनाकर बमबारी कर रहा है। नए हमलों के कारण पहले से तहस-नहस ऊर्जा ढांचे पर बोझ और बढ़ गया है। नए हमलों से पूर्व यूक्रेन के राष्ट्रपति वोलोदिमीर जेलेंस्की ने कहा था कि रूस के हमलों के कारण यूक्रेन की करीब आधी आधारभूत संरचना बर्बाद हो गई है।

बिजली की कमी के बीच लाखों लोगों की दिक्कतें पहले से बढ़ी हुई हैं और अब जलापूर्ति भी प्रभावित हुई है। यूक्रेन के अधिकारियों का कहना है कि रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन को लगता है कि जाड़े में अंधकार में समय गुजारने पर लोगों की राय युद्ध के खिलाफ होगी, लेकिन उनका सोचना गलत है क्योंकि लोगों का संकल्प और मजबूत होगा। कीव के मेयर विटाली क्लिट्सको ने बुधवार को कहा कि ‘‘राजधानी की बुनियादी सुविधाओं में से एक को नुकसान पहुंचा है’’ और शहर के ‘‘विभिन्न जिलों में कई जगह विस्फोट हुए। उन्होंने कहा कि पूरे कीव में पानी की आपूर्ति ठप हो गई है। मोल्दोवा में, आधारभूत संरचना मंत्री आंद्रेई स्पिनू ने कहा कि ‘‘देश भर में बड़े पैमाने पर बिजली की किल्लत हो गई है।’’ मोल्दोवा की सोवियत-युग की ऊर्जा प्रणालियां यूक्रेन से जुड़ी हुई हैं।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


अन्य न्यूज़