कर्मचारियों को प्रताड़ित करने के आरोपों से प्रीति पटेल के मुक्त होने की उम्मीद

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  अप्रैल 30, 2020   10:03
कर्मचारियों को प्रताड़ित करने के आरोपों से प्रीति पटेल के मुक्त होने की उम्मीद

कर्मचारियों को प्रताड़ित करने के आरोपों से प्रीति पटेल के मुक्त होने की उम्मीद दिखाई दे रही है। ‘द डेली टेलीग्राफ’ ने बुधवार को कहा कि कैबिनेट सचिव सर मार्क सेडविल द्वारा पिछले हफ्ते रिपोर्ट पूरी कर ली गई थीऔर प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन के कोरोना से ठीक होकर सोमवार को‘10 डाउनिंग स्ट्रीट’ लौटने पर उन्हें यह रिपोर्ट सौंप दी गई।

लंदन। ब्रिटिश मीडिया की एक रिपोर्ट के मुताबिक एक आंतरिक जांच में ब्रिटेन की गृह मंत्री प्रीति पटेल के उन आरोपों से मुक्त होने की पूरी उम्मीद है, जिनमें कहा गया था कि उन्होंने अपने कार्यालय और उनके तहत आने वाले अन्य दफ्तरों में लोकसेवकों को धमकाया। आधिकारिक रूप से जांच अभी “जारी” है लेकिन पटेल के सहयोगियों का दावा है कि अधिकारियों ने सभी जानकारियों की समीक्षा की है और भारतीय मूल की वरिष्ठ कैबिनेट मंत्री के खिलाफ “कोई साक्ष्य” नहीं पाया है।

इसे भी पढ़ें: पोम्पिओ ने अहम चिकित्सकीय आपूर्ति पर निर्यात प्रतिबंध हटाने के लिए भारत की प्रशंसा की

‘द डेली टेलीग्राफ’ ने बुधवार को कहा कि कैबिनेट सचिव सर मार्क सेडविल द्वारा पिछले हफ्ते रिपोर्ट पूरी कर ली गई थी और प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन के कोरोना से ठीक होकर सोमवार को ‘10 डाउनिंग स्ट्रीट’ लौटने पर उन्हें यह रिपोर्ट सौंप दी गई। पटेल के रोजगार मंत्री रहने के दौरान उनके साथ कार्य और पेंशन विभाग में काम कर चुके पूर्व मंत्री इयान डंकन स्मिथ ने अखबार को बताया, “जांच में मैं बिल्कुल स्पष्ट था कि उनके (पटेल के) खिलाफ कोई आरोप नहीं था, न ही उस समय उनसे कोई पूछताछ की गई थी।” जॉनसन ने मंत्रियों के लिये ब्रिटेन में लागू आचार संहिता के तहत इस आंतरिक जांच के लिये आदेश दिये थे, क्योंकि गृह मंत्रालय के सबसे वरिष्ठ नौकरशाह सर फिलिप रुटनम ने पटेल पर उंगली उठाते हुए नाटकीय रूप से इस्तीफा दे दिया था। इसके बाद उन्होंने पटेल और गृह मंत्रालय के खिलाफ अलग से कानूनी प्रक्रिया शुरू की थी। अब आंतरिक जांच में प्रीति पर लगे आरोपों के समर्थन में कछ नहीं मिलने की बात सामने आने पर विपक्ष अब इस रिपोर्ट को सार्वजनिक किये जाने की मांग कर रहा है।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।