नए सर्वेक्षण में Rishi Sunak पड़े Boris Johnson पर भारी

Rishi Sunak
प्रतिरूप फोटो
Google Creative Commons
द इंडिपेंडेंट अखबार के लिए सवंता कॉमरेस सर्वेक्षण में पाया गया कि 2019 के आम चुनाव में एक बड़ा जनादेश हासिल करने वाले कंजर्वेटिव पार्टी के नेता के रूप में जॉनसन की कथित लोकप्रियता 2024 में होने वाले अगले चुनाव से पहले ब्रिटिश मतदाताओं के बीच दिखाई नहीं देती।

ब्रिटेन के प्रधानमंत्री ऋषि सुनक एक नए सर्वेक्षण में अपने पूर्ववर्ती बोरिस जॉनसन की तुलना में अधिक भरोसेमंद, आर्थिक रूप से अधिक सक्षम और वोट जुटाने की अधिक क्षमता वाले व्यक्ति माने गए हैं। द इंडिपेंडेंट अखबार के लिए सवंता कॉमरेस सर्वेक्षण में पाया गया कि 2019 के आम चुनाव में एक बड़ा जनादेश हासिल करने वाले कंजर्वेटिव पार्टी के नेता के रूप में जॉनसन की कथित लोकप्रियता 2024 में होने वाले अगले चुनाव से पहले ब्रिटिश मतदाताओं के बीच दिखाई नहीं देती। सर्वेक्षण में पाया गया कि 63 प्रतिशत लोग 58 वर्षीय जॉनसन के विरोध में हैं और इस विचार के पक्ष में केवल 24 प्रतिशत लोग हैं कि वह फिर देश का नेतृत्व कर सकते हैं।

इसी के साथ लगभग 41 प्रतिशत मतदाताओं का मानना ​​​​है कि 42 वर्षीय सुनक टोरी पार्टी की प्रतिष्ठा में सुधार कर सकते हैं, जबकि जॉनसन के बारे में केवल 19 प्रतिशत मतदाता यही विचार रखते हैं। सर्वेक्षण के अनुसार, पूर्व प्रधानमंत्री के समर्थकों का मानना ​​​​है कि उनके पास चुनावी जादू है, लेकिन परिणाम दिखाते हैं कि सुनक अधिक भरोसेमंद, आर्थिक रूप से अधिक सक्षम और वोट जुटाने की अधिक क्षमता वाले व्यक्ति हैं।

इसमें कहा गया है कि जॉनसन के सहयोगी चाहते हैं कि वह वापसी करें और ऋषि सुनक की जगह लें तथा 2024 में होने वाले आम चुनाव में टोरी पार्टी का नेतृत्व करें। सर्वेक्षण के अनुसार, लेकिन 63 प्रतिशत लोग नहीं चाहते कि जॉनसन फिर से देश का नेतृत्व करने का प्रयास करें। केवल 24 प्रतिशत लोग ही उन्हें फिर सत्ता में देखना चाहते हैं। सर्वेक्षण में कहा गया कि 58 प्रतिशत मतदाता चाहते हैं कि यदि जॉनसन अगले महीने से शुरू होने वाली संसदीय जांच में पार्टीगेट पर झूठ बोलते पाए जाते हैं, तो उन्हें टोरी सांसद के रूप में अपनी उक्सब्रिज और रुइस्लिप सीट से इस्तीफा दे देना चाहिए।

हालांकि जॉनसन और सुनक दोनों पर कोविड प्रतिबंधों का उल्लंघन कर 10 डाउनिंग स्ट्रीट में एक जन्मदिन की पार्टी में भाग लेने के चलते जुर्माना लगाया गया था, लेकिन लगभग 39 प्रतिशत लोग पार्टीगेट के लिए पूर्व प्रधानमंत्री को दोषी मानते हैं, जबकि केवल नौ प्रतिशत ने सुनक को दोषी ठहराया। केवल 14 फीसदी मतदाताओं का मानना ​​है कि जॉनसन सच बोलेंगे, जबकि 39 फीसदी लोग भारतीय मूल के सुनक के बारे में ऐसा ही मानते हैं। अर्थव्यवस्था को दुरुस्त रखने को लेकर वर्तमान टोरी नेता पर 44 प्रतिशत लोग भरोसा करते हैं, जबकि इस मामले में जॉनसन पर केवल 19 प्रतिशत लोग विश्वास करते हैं। ब्रिटेन में 13 जनवरी से 15 जनवरी के बीच किए गए सवंता कॉमरेस सर्वेक्षण में 2,064 वयस्कों को शामिल किया गया।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


अन्य न्यूज़