रूस ने दिया भारतीय उद्योगपतियों को सुदूर पूर्वी क्षेत्र में निवेश करने का न्यौता

russia-invites-indian-industrialists-to-invest-in-far-east-region
पुतिन के लिये सुदूर पूर्व मामलों के विशेष दूत की भी भूमिका निभा रहे त्रुतनेव ने यहां एक व्यापार कार्यक्रम में कहा कि रूस में होने वाले कुल निवेशक का करीब एक तिहाई अब सुदूर पूर्व क्षेत्र में हो रहा है।

मुंबई। रूस के उप-प्रधानमंत्री यूरि पेट्रोनोविच त्रुतनेव ने मंगलवार को भारतीय उद्योगपतियों को संसाधन से भरपूर अपने देश के सुदूर पूर्वी क्षेत्र में निवेश का न्यौता दिया। उन्होंने कहा कि पुतिन प्रशासन के लिये इस क्षेत्र का विकास राष्ट्रीय प्राथमिकता है। पुतिन के लिये सुदूर पूर्व मामलों के विशेष दूत की भी भूमिका निभा रहे त्रुतनेव ने यहां एक व्यापार कार्यक्रम में कहा कि रूस में होने वाले कुल निवेशक का करीब एक तिहाई अब सुदूर पूर्व क्षेत्र में हो रहा है।

इसे भी पढ़ें: भारत की रक्षा जरूरतों में अमेरिका करेगी मदद लेकिन रूस से S400 खरीद से सहयोग पर पड़ेगा असर

उद्योग मंडल सीआईआई द्वारा आयोजित पूर्वी आर्थिक मंच (ईईएफ) की बैठक में उन्होंने कहा कि भारतीय निवेशकों को हीरा उद्योग में निवेश करना चाहिए। वे वहां हीरा तराशने के लिये संयंत्र लगा सकते हैं। त्रुतनेव ने कहा कि फिलहाल रूस कारोबार सुगमता मामले में 190 देशों की सूची में 31वें स्थान पर है।दुनिया की पांच प्रमुख अर्थव्यवस्थाओं में शामिल होने के लक्ष्य के साथ सुदूर पूर्व क्षेत्र का विकास हमारी राष्ट्रीय प्राथमिकताओं में से एक है। 

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


अन्य न्यूज़