रूस ने आर्कटिक पर अधिकार जताने के लिए सैन्य अड्डे को किया मजबूत

By प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क | Publish Date: Apr 5 2019 11:21AM
रूस ने आर्कटिक पर अधिकार जताने के लिए सैन्य अड्डे को किया मजबूत
Image Source: Google

रूस अकेला देश नहीं है जो आर्कटिक के हिस्सों पर अपना अधिकार जताने की कोशिश कर रहा है। इस क्षेत्र में पिघल रही बर्फ ने संसाधनों की तलाश करने और नए समुद्री मार्ग बनाने के अवसरों का रास्ता खोल दिया है।

सेवेर्नी क्लीवर सैन्य अड्डा (रूस)। रूस ने आर्कटिक सैन्य अड्डे पर मिसाइल लॉन्चर और हवाई रक्षा प्रणालियां तैनात की है ताकि वह संसाधनों से संपन्न इस ध्रुवीय क्षेत्र पर अपनी ताकत का प्रदर्शन कर सके। सेवेर्नी क्लीवर नाम के इस सैन्य अड्डे को सफेद, नीले और लाल रंगों से रंगा गया है जो रूस के राष्ट्रीय ध्वज के रंग हैं। अड्डे को इस तरीके से बनाया गया है कि सैनिक सड़कों पर धूमे बिना उसके सभी केंद्रों तक पहुंच सके क्योंकि यहां सर्दियों में तापमान कभी-कभी शून्य से नीचे 50 डिग्री सेल्सियस भी चला जाता है।

इसे भी पढ़ें: विदेश सचिव रूस के दौरे पर, विदेश उप मंत्री के साथ बातचीत की

इस सैन्य अड्डे में 250 सैनिक वायु और समुद्री निगरानी सुविधाओं और जहाज रोधी मिसाइलों का रखरखाव करने के लिए स्थायी रूप से तैनात रहते हैं। सैन्य अड्डे के कमांडर लेफ्टिनेंट कर्नल व्लादिमीर पाश्चेनिक ने कहा, ‘‘हमारा काम वायु और उत्तरी समुद्री मार्ग की निगरानी करना है।

इसे भी पढ़ें: रूसी सैन्य अकादमी में हुआ विस्फोट, धमाके में तीन लोग घायल



हमारे पास सभी सुविधाएं मौजूद हैं और हम आराम से रह रहे हैं।’’ रूस अकेला देश नहीं है जो आर्कटिक के हिस्सों पर अपना अधिकार जताने की कोशिश कर रहा है। इस क्षेत्र में पिघल रही बर्फ ने संसाधनों की तलाश करने और नए समुद्री मार्ग बनाने के अवसरों का रास्ता खोल दिया है।

रहना है हर खबर से अपडेट तो तुरंत डाउनलोड करें प्रभासाक्षी एंड्रॉयड ऐप   


Related Story