चीन में खुले स्कूल, सोशल डिस्टेंसिंग के लिए बच्चों ने अपनाएं अनोखे उपाय

चीन में खुले स्कूल, सोशल डिस्टेंसिंग के लिए बच्चों ने अपनाएं अनोखे उपाय

बच्चों के लिए स्कूल का अनुभव पहले से बिल्कुल अलग है। इस बार वह अपने दोस्तों से तो मिल रहे हैं पर एक के दूरी का ध्यान रखकर। इसी दूरी को बरकरार रखने के लिए उन्होंने मास्क के साथ-साथ स्पेशल हेड गियर भी अपने सर पर लगा रखा है।

पूरा विश्व कोरोना महामारी से जूझ रहा है। विश्व के अधिकतर देशों में लॉक डाउन की स्थिति है। भारत में भी 3 मई तक लॉक डाउन है। इस बीच चीन से एक अच्छी खबर है। चीन में स्कूल खुलने लगी हैं। कई महीने के बंद के बाद चीन की राजधानी पेइचिंग में स्कूल खुले। एक बार फिर अपनी क्लास में लौटने पर विद्यार्थियों के चेहरे पर खुशी देखी जा सकते थी। उनके लिए खुशी की बात तो यह भी थी कि कई दिनों के बाद वे अपने दोस्तों से मुलाकात कर रहे हैं। हालांकि उनके लिए परिस्थितियां पहले जैसी नहीं रही। बच्चों के कंधों पर स्कूल बैग तो हैं पर एक नई चीज उनकी जिंदगी में जुड़ गई है और वह है मास्क। सभी बच्चों ने अपने चेहरे पर मास्क लगा रखा था।

इसे भी पढ़ें: कोविड-19: अमेरिका में सुधार के संकेत, न्यूयॉर्क और न्यू जर्सी में मृतक संख्या घटी

बच्चों के लिए स्कूल का अनुभव पहले से बिल्कुल अलग है। इस बार वह अपने दोस्तों से तो मिल रहे हैं पर एक के दूरी का ध्यान रखकर। इसी दूरी को बरकरार रखने के लिए उन्होंने मास्क के साथ-साथ स्पेशल हेड गियर भी अपने सर पर लगा रखा है। स्पेशल हेडगियर सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करने में उनकी मदद करेगा। दरअसल यह हेडगियर एक टोपी की तरह है जिसमें दोनों तरफ पंखी निकली हुई है। जब बच्चे स्कूल पहुंचे तो उनके स्वागत में स्कूल बोर्ड पर वेलकम बैक टू स्कूल लिखा गया था। यह बच्चों के उत्साह को और भी बढ़ाने वाला था। लेकिन बच्चे जागरुक नजर आ रहे थे व सावधानियां बरत रहे थे। मास्क लगाने के साथ-साथ हाथों को सैनिटाइजर से साफ करना तथा गार्बेज बैग लेकर भी स्कूल पहुंचना अब उनकी जिंदगी में शामिल हो गया है।

इसे भी पढ़ें: कोरोना संक्रमण रोकने में न्यूजीलैंड कैसे रहा सफल? लॉकडाउन खत्म करेंगे ये देश

आपको बता दें कि चीन के वुहान शहर से ही पूरे विश्व में कोरोना महामारी फैला है। हालांकि चीन में अब स्थितियां सामान्य होती दिख रही है। जनजीवन में भी अब चहल-पहल दिखने लगा है। चीन के कई शहरों में लॉक डाउन लगाए गया था हालांकि उसे अब खोल दिया गया है। चीन के कई शिक्षण संस्थाएं बंद पड़े हुए थे। चीन सरकार अभी भी सतर्कता बरत रही है। शंघाई में जहां मिडिल और हाई स्कूल खोले गए हैं तो वहीं राजधानी पेइचिंग में सिर्फ हाई स्कूल ही खोले गए हैं। स्कूलों को खोलने का कारण यह भी है कि बच्चों को एग्जाम के लिए तैयार भी करवाना है। हालांकि अभी भी वुहान में स्कूलों को नहीं खोला गया है। सूत्रों के अनुसार 3 मई के बाद वुहान के भी स्कूल खुल जाएंगे।