दक्षिण कोरिया में तेजतर्रार सांसद ली जे-म्युंग विपक्षी दल के अध्यक्ष चुने गए

South Korea
प्रतिरूप फोटो
Google Creative Commons
सर्वेक्षणों के मुताबिक अर्थव्यवस्था, शिक्षा और अन्य घरेलू मुद्दों पर नीतिगत फैसलों और गलत तरीके से कैबिनेट नियुक्तियों को लेकर मई में पदभार ग्रहण करने के बाद से यून की लोकप्रियता में कमी आई है। राजधानी सियोल के एक स्टेडियम में आयोजित सम्मेलन में ली को पार्टी सदस्यों के करीब 78 प्रतिशत मत मिलने के साथ डेमोक्रेटिक पार्टी का नया अध्यक्ष घोषित किया गया।

सियोल, 29 अगस्त (एपी)। तेजतर्रार सांसद ली जे-म्युंग को रविवार को दक्षिण कोरिया के मुख्य विपक्षी दल डेमोक्रेटिक पार्टी का अध्यक्ष चुना गया। कुछ महीने पहले वह कंजरवेटिव पार्टी के अपने प्रतिद्वंद्वी यून सुक येओल से राष्ट्रपति चुनाव में बहुत कम अंतर से हार गए थे। डेमोक्रेटिक पार्टी के अध्यक्ष पद की दौड़ में ली (57) की जीत के साथ ही नेतृत्व पद के लिए कुछ महीने से जारी तलाश खत्म हो गई है। संसद में अब भी ‘उदारवादी’ डेमोक्रेटिक पार्टी के सांसदों का बहुमत है। इसके साथ यून के साथ ली की प्रतिद्वंद्विता भी फिर से शुरू हो गई है।

सर्वेक्षणों के मुताबिक अर्थव्यवस्था, शिक्षा और अन्य घरेलू मुद्दों पर नीतिगत फैसलों और गलत तरीके से कैबिनेट नियुक्तियों को लेकर मई में पदभार ग्रहण करने के बाद से यून की लोकप्रियता में कमी आई है। राजधानी सियोल के एक स्टेडियम में आयोजित सम्मेलन में ली को पार्टी सदस्यों के करीब 78 प्रतिशत मत मिलने के साथ डेमोक्रेटिक पार्टी का नया अध्यक्ष घोषित किया गया। अपने संबोधन में ली ने अर्थव्यवस्था के मुद्दे पर यून प्रशासन की आलोचना की, लेकिन यह भी कहा कि वह यून और सत्तारूढ़ कंजरवेटिव पार्टी के साथ सहयोग करना चाहते हैं ‘‘अगर वे देश और लोगों के लिए सही रास्ता चुनते हैं।’’

उन्होंने डेमोक्रेटिक पार्टी को फिर से सत्ता में लाने को अपना मुख्य मिशन बताया। ली ने कहा, ‘‘आज का सम्मेलन हमारे विजयी मार्च की शुरुआत है, जिसमें दो साल बाद संसदीय चुनाव, चार साल बाद मेयर और गवर्नर चुनाव और पांच साल बाद राष्ट्रपति चुनाव शामिल हैं।’’ मार्च के चुनाव में यून ने ली को 0.7 प्रतिशत अंकों के मामूली अंतर से हराया था। यून के प्रवक्ता किम यून-हे ने रविवार को एक बयान जारी कर ली को सम्मेलन में उनकी जीत पर बधाई दी और देश की समस्याओं के समाधान के लिए दोनों दलों के बीच सहयोग का आह्वान किया।

मार्च के बाद से डेमोक्रेटिक पार्टी में अध्यक्ष का पद खाली था और राष्ट्रपति चुनाव में ली की हार के मद्देनजर पिछले नेतृत्व के पद छोड़ने के बाद पार्टी एक आपातकालीन समिति द्वारा चलाई जा रही थी। ली के समर्थक उनकी मुखर शैली की सराहना करते हैं और उन्हें अभिजात्य-विरोधी नायक के रूप में देखते हैं, जो देश की राजनीति को दुरुस्त कर सकता है, भ्रष्टाचार को मिटा सकता है और बढ़ती आर्थिक असमानता, रोजगार के घटते अवसर और आवास की बढ़ती कीमतों का समाधान कर सकता है।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


अन्य न्यूज़