अफगानिस्तान से IS को उखाड़ फेंकने के लिए तालिबान ने छेड़ा अभियान

अफगानिस्तान से IS को उखाड़ फेंकने के लिए तालिबान ने छेड़ा अभियान

प्राप्त जानकारी के मुताबिक आईएस के खिलाफ शुरू किए गए अभियान की शुरुआत नंगरहार से होगी। दरअसल, पिछले कुछ हफ्तों में तालिबान के कई लड़ाकों को निशाना बनाया जा चुका है।

काबुल। तालिबान ने अफगानिस्तान पर पूरी तरह से राज स्थापित करने के बाद अब अपने पुराने दुश्मन इस्लामिक स्टेट (आईएस) को जड़ से खत्म करने का मन बना लिया है। इसके लिए तालिबान ने एक अभियान की शुरुआत की है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक तालिबान ने काबुल में मौजूद स्थानीय शासा और नंगरहार पर कार्रवाई करने का मन बनाया है। 

इसे भी पढ़ें: तालिबानियों से सामना करने को तैयार है यह महिलाएं, किसी भी हाल में नहीं रोकेगी अपना काम 

प्राप्त जानकारी के मुताबिक आईएस के खिलाफ शुरू किए गए अभियान की शुरुआत नंगरहार से होगी। दरअसल, पिछले कुछ हफ्तों में तालिबान के कई लड़ाकों को निशाना बनाया जा चुका है। जलालाबाद के एक स्थानीय गैस स्टेशन पर खड़े तालिबान के वाहन पर बंदूकधारियों ने गोलियां चलायीं जिससे दो लड़ाकों एवं गैस स्टेशन परिचारक की मौत हो गई थी। इससे पहले भी कई बार तालिबानियों को निशाना बनाया जा चुका है।

20 साल बाद स्थापित किया राज

तालिबान की 15 अगस्त के दिन काबुल में एंट्री के साथ ही अमेरिकी समर्थित अशरफ गनी सरकार गिर गई और चारों तरफ अफरातफरी का महौल था। इसके कुछ हफ्तों के बाद तालिबान ने सरकार गठित कर ली। हालांकि सरकार गठन करने के बाद भी कुछ सरकारी कार्यालय अभी तक नहीं खुले हैं। 20 साल बाद तालिबान को अफगानिस्तान की गद्दी मिली। इसके बावजूद तालिबान नहीं बदला। 

इसे भी पढ़ें: आईएसआई के साथ तालिबान के रिश्ते पर बंद कमरों में चर्चा हो: अमेरिका रक्षा मंत्री 

तालिबान ने अमेरिकी सैनिकों की वापसी के साथ ही काबुल हवाई अड्डे पर कब्जा कर लिया था। इसके बाद कई बार तालिबान और आईएस के बीच में भिड़ंत हुई।