इसमें कोई शक नहीं है कि मैं ब्रिटिश प्रधानमंत्री की दौड़ में ‘छुपा रुस्तम’ हूं : सुनक

Rishi Sunak
ANI Photo.
उन्होंने यह टिप्पणी परोक्ष रूप से जॉनसन समर्थक मंत्रियों जैसे संस्कृति मंत्री नादिन डोरिस और ब्रेक्जिट अवसरों के मंत्री जैकब रीस मॉग के संदर्भ में की है, जो ट्रस के समर्थन में अभियान चला रहे हैं और सुनक के अभियान को तरजीह नहीं देने की अपील कर रहे हैं।

लंदन|  ब्रिटिश प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन का स्थान लेने की दौड़ में शामिल भारतीय मूल के नेता ऋषि सुनक ने शनिवार को ‘‘ उन ताकतों’’ पर निशाना साधा, जो कंजर्वेटिव पार्टी का नेतृत्व हासिल करने के मुकाबले में उनकी प्रतिद्वंद्वी लिज ट्रस का साथ दे रहे हैं।

उन्होंने इसके साथ ही कंजर्वेटिव पार्टी के नेतृत्व की लड़ाई में स्वयं को ‘‘छुपा रुस्तम’’करार दिया।

पूर्व प्रधानमंत्री और ब्रिटेन की आयरन लेडी के नाम से प्रसिद्ध मार्गरेट थैचर के पूर्वी इंग्लैंड स्थित गृह नगर ग्रैंथम में भाषण देते हुए पूर्व चांसलर सुनक ने कहा कि सत्तारूढ़ पार्टी में एक धड़ा है, जो चुनाव को विदेश मंत्री की ‘‘ताजपोशी’’के तौर पर देखना चाहेगा।

उन्होंने यह टिप्पणी परोक्ष रूप से जॉनसन समर्थक मंत्रियों जैसे संस्कृति मंत्री नादिन डोरिस और ब्रेक्जिट अवसरों के मंत्री जैकब रीस मॉग के संदर्भ में की है, जो ट्रस के समर्थन में अभियान चला रहे हैं और सुनक के अभियान को तरजीह नहीं देने की अपील कर रहे हैं। समर्थकों से घिरे सुनक ने कहा, ‘‘इसमें कोई शक नहीं है कि मैं छुपा रुस्तम (अंडरडॉग) हूं।’’

इस दौरान उनके समर्थक ‘रेडी4ऋषि’ (ऋषि के लिए तैयार हैं)लिखे बैनर लहरा रहे थे। उन्होंने अपने भाषण के दौरान कहा, ‘‘ऐसी ताकतें हैं, जो दूसरे प्रत्याशी की ताजपोशी चाहती है। लेकिन मेरा मानना है कि सदस्य विकल्प चाहते हैं और वे सुनने के लिए तैयार हैं।’’

हालांकि, ऋषि सुनक ने विस्तार से नहीं बताया कि वे ‘‘ताकतें’’ कौन सी हैं, लेकिन दोहराया कि वह पसंदीदा नहीं हैं। सुनक के दादा-दादी वर्ष 1960 के दशक में पूर्वी अफ्रीका से ब्रिटेन आए थे और उनका जन्म साउथंप्टन में हुआ था।

सुनक ने अपने मतदाताओं को ‘करुणा’ का संदेश दिया, लेकिन साथ ही अवैध आव्रजन पर ‘‘सख्त’’कार्रवाई की भी बात की। सुनक ने दोहराया कि तत्काल महंगाई को नीचे लाने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि बढ़ती महंगाई दुश्मन है जो सभी को गरीब बनाती है।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


अन्य न्यूज़