International Highlights: काबुल हवाई अड्डे पर बढ़ा आतंकवादी हमले का खतरा

Taliban
ब्रिटेन, अमेरिका और ऑस्ट्रेलिया ने आतंकवादी हमले के खतरे के कारण लोगों को काबुल हवाई अड्डे के बाहर जमा होने के खिलाफ चेतावनी दी है। उन्होंने लोगों को तुरंत सुरक्षित स्थान पर जाने की सलाह दी गई है।

अफगानिस्तान संकट के बीच ब्रिटेन, अमेरिका और ऑस्ट्रेलिया ने आतंकवादी हमले के खतरे के कारण लोगों को काबुल हवाई अड्डे के बाहर जमा होने के खिलाफ चेतावनी दी है। उन्होंने लोगों को तुरंत सुरक्षित स्थान पर जाने की सलाह दी गई है। वहीं दूसरी तरफ पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान और रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने अफगानिस्तान में ताजा घटनाक्रम पर चर्चा की और वहाँ की स्थिति से निपटने के लिए समन्वित प्रयासों का आह्वान किया।

इमरान खान ने व्लादिमीर पुतिन से अफगानिस्तान के बिगड़ते हालात पर की चर्चा

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान और रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने बुधवार को अफगानिस्तान में ताजा घटनाक्रम पर चर्चा की और संघर्षग्रस्त देश में स्थिति से निपटने के लिए समन्वित प्रयासों का आह्वान किया। अफगानिस्तान की राजधानी पर पिछले सप्ताह तालिबान ने कब्जा कर लिया। विदेश कार्यालय के अनुसार खान को राष्ट्रपति पुतिन की तरफ से टेलीफोन कॉल आया और दोनों ने अफगानिस्तान में पैदा हो रही स्थितियों और द्विपक्षीय संबंधों पर विचारों का आदान-प्रदान किया।

अफगानिस्तान में अब भी करीब 1,500 अमेरिकी नागरिक मौजूद

अमेरिकी विदेश मंत्री एंटनी ब्लिंकन ने कहा कि प्रशासन का मानना है कि 12 दिनों तक सैन्य विमानों से अमेरिकियों को निकालने के अभियान के बावजूद अब भी करीब 1,500 अमेरिकी अफगानिस्तान में बचे हैं। ब्लिंकन ने बुधवार को संवाददाता सम्मेलन में कहा कि 14 अगस्त को तालिबान के काबुल पहुंचने के बाद से दिन-रात चल रहे अभियान में अब तक 4,500 अमेरिकियों को वहां से निकाला गया है।

काबुल एयरपोर्ट पर बड़े आतंकी हमले का खतरा, ब्रिटेन, अमेरिका और ऑस्ट्रेलिया ने अपने नागरिकों को चेताया

ब्रिटेन, अमेरिका और ऑस्ट्रेलिया ने "आतंकवादी हमले के बहुत बड़े खतरे" के कारण लोगों को काबुल हवाई अड्डे की यात्रा करने के खिलाफ चेतावनी दी है। जो लोग एयरपोर्ट के बाहर जमा हुए हैं, उन्हें तुरंत सुरक्षित स्थान पर जाने की सलाह दी गई है।  तालिबान के 15 अगस्त को राजधानी शहर पर नियंत्रण करने के बाद से पश्चिमी बलों ने काबुल हवाईअड्डे से 80,000 से अधिक लोगों को एयरलिफ्ट किया है। हवाईअड्डे पर अराजकता में कम से कम आठ लोगों की मौत हो गई है।

अफगानिस्तान में 31 अगस्त के बाद राजनयिक मौजूदगी के ‘विकल्पों’ पर विचार कर रहे हैं: अमेरिका

अमेरिका ने कहा है कि 31 अगस्त को अफगानिस्तान से निकासी की समय-सीमा समाप्त होने के बाद वह वहां राजनयिक मौजूदगी के लिए अनेक ‘‘विकल्पों’‘ पर विचार कर रहा है। विदेश मंत्री एंटोनी ब्लिंकन ने बुधवार को संवाददाताओं से कहा,‘‘ 31 अगस्त के बाद हमारी मौजूदी के संबंध में हम विभिन्न विकल्पों पर विचार रहे हैं।’’ उन्होंने निकासी अभियान की समय-सीमा समाप्त होने के बाद अफगानिस्तान में अमेरिका की राजनयिक मौजूदगी के संबंध में कहा,‘‘ मुझे विश्वास है कि आने वाले दिनों में, हफ्तों में स्थिति स्पष्ट हो जाएगी, लेकिन हम विभिन्न विकल्पों पर विचार कर रहे हैं।’’

शुक्रवार रात के बाद से काबुल हवाई अड्डे से लोगों को नहीं निकाल पाएगा फ्रांस!

फ्रांसीसी प्रधानमंत्री ज्यां कास्ते ने कहा है कि उनका देश शुक्रवार रात के बाद से काबुल हवाई अड्डे से लोगों को निकाल नहीं पाएगा। कास्ते ने बृहस्पतिवार को यह घोषणा ऐसे वक्त में की है जब अमेरिका और पश्चिमी राष्ट्रों के सामने अफगानिस्तान से लोगों को निकालने की 31 अगस्त की समयसीमा है।

अन्य न्यूज़