International Highlights: काबुल हवाईअड्डे पर हुए आत्मघाती हमलों के साजिशकर्ताओं पर अमेरिका की बड़ी कार्रवाई

International Highlights: काबुल हवाईअड्डे पर हुए आत्मघाती हमलों के साजिशकर्ताओं पर अमेरिका की बड़ी कार्रवाई

काबुल हवाई अड्डे पर हुए आत्मघाती बम हमलों पर जवाबी कार्रवाई करते हुए अमेरिका ने इस्लामिक स्टेट के ‘‘साजिशकर्ता’’ के खिलाफ ड्रोन हमला किया। अमेरिका ने यह जवाबी कार्रवाई 48 घंटे से भी कम समय में की है।

अफगानिस्तान में काबुल हवाई अड्डे पर हुए आत्मघाती बम हमलों पर जवाबी कार्रवाई करते हुए अमेरिका ने इस्लामिक स्टेट के ‘‘साजिशकर्ता’’ के खिलाफ ड्रोन हमला किया। अमेरिका ने यह जवाबी कार्रवाई 48 घंटे से भी कम समय में की है। वहीं दूसरी तरफ अमेरिका के एक अधिकारी ने खुलासा किया कि काबुल हवाई अड्डे पर आत्मघाती बम हमला करने वाला आतंकी 25 पौंड विस्फोटक लिए हुआ था जिसमें विस्फोटक छर्रे भरे हुए थे। 

काबुल में अपने सैनिकों की शहादत का अमेरिका ने लिया बदला, ISIS-K ‘साजिशकर्ता’ पर किया हमला

अमेरिका ने अफगानिस्तान में इस्लामिक स्टेट के ‘‘साजिशकर्ता’’ के खिलाफ ड्रोन हमला किया। अमेरिका ने काबुल हवाईअड्डे पर आत्मघाती धमाकों के 48 घंटे से भी कम समय में यह जवाबी कार्रवाई की है। हमले में 169 अफगान और 13 अमेरिकी सैनिकों की मौत हो गयी। अमेरिका के सेंट्रल कमान के प्रवक्ता कैप्टन बिल अर्बन ने शुक्रवार को कहा, ‘‘अमेरिकी सेना ने इस्लामिक स्टेट-खुरासान (आईएसके) साजिशकर्ता के खिलाफ आज आतंकवाद विरोधी अभियान चलाया। यह मानवरहित हवाई हमला अफगानिस्तान के नांगहर प्रांत में हुआ।

काबुल पर हमला करने के लिए आत्मघाती हमलावर भारी मात्रा में विस्फोटक लिए हुए था

अमेरिका के एक अधिकारी ने शुक्रवार को कहा कि काबुल हवाई अड्डे पर आत्मघाती बम हमला करने वाला आतंकी 25 पौंड विस्फोटक लिए हुआ था जिसमें विस्फोटक छर्रे भरे हुए थे। इस हमले में अफगानिस्तान के 169 नागरिक और अमेरिका के 13 सैनिक मारे गए।

31 अगस्त से पहले काबुल से नहीं हटेगी अमेरिका! व्हाइट हाउस ने कहा- हमारे सैनिकों को बड़ा खतरा

अमेरिका ने इस्लामिक स्टेट-खुरासान प्रांत (आईएसआईएस-के) के खतरे के कारण अफगानिस्तान से लोगों को निकालने की प्रक्रिया के ‘‘पीछे खिसक जाने’’ के बावजूद कहा कि वह लोगों की निकासी का अपना अभियान 31 अगस्त तक ही पूरा करेगा। अमेरिका और तालिबान ने युद्धग्रस्त देश से अमेरिकी सैनिकों की निकासी के लिए 31 अगस्त की समयसीमा तय की है। व्हाइट हाउस की प्रेस सचिव जेन साकी ने शुक्रवार को अपने नियमित संवाददाता सम्मेलन में कहा, ‘‘खतरा अभी बना हुआ है। हमारे सैनिक अब भी खतरे में हैं। यह अभियान का सबसे खतरनाक हिस्सा है।’’ 

आत्मघाती हमलों के बाद काबुल में गोलीबारी, चारों तरफ अफरा तफरी का माहौल

अफगानिस्तान की राजधानी काबुल के हवाई अड्डे के पास हुए आत्मघाती हमलों के दो दिन बाद फिर से भारी गोलीबारी की खबर सामने आ रही है। प्राप्त जानकारी के मुताबिक काबुल में गोलीबारी जारी है। जिसकी वजह से अफरा तफरी का माहौल है। लोग दहशत में इलाके को छोड़कर भाग रहे हैं।

बेनकाब हुए इमरान खान, उपलब्धियां बताने के चक्कर में भारतीयों की तस्वीरों का किया इस्तेमाल, नवाज की पार्टी ने घेरा

पाकिस्तान की इमरान खान सरकार को तीन साल पूरे हो चुके हैं। इसी बीच विपक्षी दलों ने उन पर जमकर निशाना साधा है। दरअसल, इमरान खान सरकार अपनी उपलब्धियों के बारे में लोगों को बताने के लिए पोस्टर, बैनर और ब्रॉशर का सहारा ले रहे हैं। लेकिन उनकी पार्टी तहरीक-ए-इंसाफ (PTI) से एक ऐसी गलती हो गई जिसकी वजह से इमरान खान की जमकर थू-थू हो रही है।