ट्रम्प ने ‘एक्जेक्यूटिव टाइम’ का किया बचाव

By प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क | Publish Date: Feb 11 2019 12:34PM
ट्रम्प ने ‘एक्जेक्यूटिव टाइम’ का किया बचाव

‘एक्सियोस’ द्वारा पिछले सप्ताह प्रकाशित सूचनाओं के अनुसार, ट्रम्प के कामकाजी दिनों के 60 प्रतिशत हिस्से को ‘एक्जेक्यूटिव टाइम’ की श्रेणी में डाला गया है। इसका मतलब है कि ट्रम्प ने इस दौरान फोन किए, समाचार पत्र पढ़े, ट्वीट किए और टीवी देखा।

वाशिंगटन। अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने अपने कामकाजी दिनों का 60 प्रतिशत हिस्सा ‘एक्जेक्यूटिव टाइम’ के तौर पर आराम को देने का बचाव करते हुए रविवार को कहा कि वह किसी भी पूर्व राष्ट्रपति से अधिक काम करते हैं। ‘एक्सियोस’ द्वारा पिछले सप्ताह प्रकाशित सूचनाओं के अनुसार, ट्रम्प के कामकाजी दिनों के 60 प्रतिशत हिस्से को ‘एक्जेक्यूटिव टाइम’ की श्रेणी में डाला गया है। इसका मतलब है कि ट्रम्प ने इस दौरान फोन किए, समाचार पत्र पढ़े, ट्वीट किए और टीवी देखा।

राष्ट्रपति ने इस पर स्पष्टीकरण देते हुए कहा कि इस खाली समय को नकारात्मक की बजाय सकारात्मक तौर पर देखा जाना चाहिए। ट्रम्प ने कहा, ‘‘जब ‘एक्जेक्यूटिव टाइम’ शब्द का इस्तेमाल किया गया है तब मैं आमतौर पर काम कर रहा होता हूं आराम नहीं ’’ट्रम्प ने कहा, ‘‘सच यह है कि जब मैंने राष्ट्रपति पद का कार्यभार संभाला था तब हमारा देश अव्यवस्थित था। कमजोर होती सेना, कभी ना समाप्त होने वाले युद्ध, उत्तर कोरिया के साथ संभावित युद्ध की स्थिति, वी.ए, उच्च कर और विनियम, सीमा, आव्रजन तथा स्वास्थ्य सेवाओं से जुड़ी कई समस्याएं और बहुत कुछ।

इसे भी पढ़े: वेनेजुएला की सेना ने मादुरो के प्रति वफादारी खत्म करने की घोषणा की

कार्यकारी चीफ ऑफ स्टाफ मिक मुल्वानी ने कहा, ‘‘सुबह साढ़े छह बजे से कार्यालय में फोन आना शुरू होते हैं, जो रात 11 बजे तक आते रहते हैं। मैं इस बात का आश्वासन दे सकता हूं कि वह अपने तय कार्यक्रम से कहीं अधिक काम कर रहे हैं। ’’ट्रम्प ने कथित तौर पर लीक के मामले में गहन जांच के आदेश दिए हैं। मुल्वानी ने कहा कि व्हाइट हाउस को आरोपी के इस सप्ताह पहचाने जाने की उम्मीद है। 

 
 


रहना है हर खबर से अपडेट तो तुरंत डाउनलोड करें प्रभासाक्षी एंड्रॉयड ऐप