श्रीलंका के दो प्रमुख मंत्री पार्टी से निलंबित

Sri Lanka
प्रतिरूप फोटो
Google Creative Commons
एसएलएफपी की केंद्रीय समिति ने गत रात हुई बैठक में राष्ट्रपति रानिल विक्रमसिंघे की सरकार में विमानन मंत्री निमल सिरीपाल डी सिल्वा और कृषि मंत्री महिंदा अमरवीरा के साथ ही तीन अन्य कनिष्ठ मंत्रियों को बर्खास्त कर दिया।

श्रीलंका फ्रीडम पार्टी (एसएलएफपी) ने पार्टी के अनुशासन का उल्लंघन करने के लिए श्रीलंकाई सरकार के कम से कम दो प्रमुख मंत्रियों को निलंबित कर दिया है। मंगलवार को इसकी घोषणा की गयी। पार्टी के महासचिव दयासिरी जयशेखर ने पत्रकारों से कहा, ‘‘उन्हें स्पष्टीकरण देने तक अस्थायी रूप से निलंबित कर दिया गया है।’’ एसएलएफपी की केंद्रीय समिति ने गत रात हुई बैठक में राष्ट्रपति रानिल विक्रमसिंघे की सरकार में विमानन मंत्री निमल सिरीपाल डी सिल्वा और कृषि मंत्री महिंदा अमरवीरा के साथ ही तीन अन्य कनिष्ठ मंत्रियों को बर्खास्त कर दिया।

पार्टी ने कहा कि उन्होंने सरकार का हिस्सा न बनने के केंद्रीय समिति के फैसले का उल्लंघन किया था। निलंबन की यह कार्रवाई ऐसे समय में की गयी है जब संसद में 2023 के बजट को लेकर मतदान होना है। बहरहाल, पार्टी से निलंबन का मतलब यह नहीं है कि दोनों मंत्रियों को विक्रमसिंघे के मंत्रिमंडल से बर्खास्त कर दिया गया है। श्रीलंका में अभूतपूर्व आर्थिक संकट के बीच सत्ता की बागडोर संभालने वाले विक्रमसिंघे ने देश को विकास के रास्ते पर लाने वाले आर्थिक सुधार करने का वादा किया है। कुछ सरकारी उद्यमों का निजीकरण करने के उनके प्रस्ताव का सांसदों ने विरोध किया और आरोप लगाया है कि विक्रमसिंघे ने श्रीलंका के दूरसंचार विभाग को भी निशाना बनाया जो कि मुनाफा कमा रहा है।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


अन्य न्यूज़