दक्षिण अफ्रीका में कोरोना का कहर, दो मंत्री हुए कोविड पॉजिटिव

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  दिसंबर 1, 2021   11:30
दक्षिण अफ्रीका में कोरोना का कहर, दो मंत्री हुए कोविड पॉजिटिव

दक्षिण अफ्रीका में कोरोना वायरस से संक्रमित दो मंत्री पृथक-वास में गए।मंत्री के कार्यालय ने एक बयान में कहा, ‘‘मंत्री तत्काल पृथक-वास में चली गई हैं और घर पर स्वास्थ्य लाभ ले रही हैं। वह घर से ही बिना किसी व्यवधान के अपने कर्तव्यों का निर्वहन कर रही हैं।

जोहानिसबर्ग। दक्षिण अफ्रीका के राष्ट्रपति सिरिल रामफोसा के कैबिनेट में दो वरिष्ठ मंत्री कोरोना वायरस से संक्रमित पाए जाने के बाद पृथक-वास में हैं। देश में संक्रमितों की संख्या सोमवार को 2,273 थी जो मंगलवार को बढ़कर 4373 हो गई है। दक्षिण अफ्रीका में कोरोना वायरस के नए स्वरूप ओमीक्रोन के मामले सामने आने के बीच सामाजिक विकास मंत्री लिनडीव जुलु भी संक्रमित पाई गई हैं। विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) ने वायरस के इस स्वरूप को ‘‘चिंताजनक’’ बताया है।

इसे भी पढ़ें: अमेरिका के हाईस्कूल में 15 वर्षीय छात्र ने की अंधाधुंध गोलीबारी, तीन की मौत, आठ जख्मी

मंत्री के कार्यालय ने एक बयान में कहा, ‘‘मंत्री तत्काल पृथक-वास में चली गई हैं और घर पर स्वास्थ्य लाभ ले रही हैं। वह घर से ही बिना किसी व्यवधान के अपने कर्तव्यों का निर्वहन कर रही हैं। जुलु ने कहा, ‘‘यह सब गले में खराश के साथ शुरू हुआ और मुझे संक्रमण का संदेह नहीं था, लेकिन जब यह बना रहा तो मैंने कल कोविड-19 जांच कराई और आज सुबह जांच के नतीजे आ गए। मैं अच्छा महसूस कर रही हूं और मैं इसका श्रेय इस तथ्य को दे सकती हूं कि वायरस पर टीके का असर दिखा।’’ गृह मंत्री आरोन मोत्सोलेडी भी संक्रमित पाए गए हैं और वह भी पृथक-वास में हैं।

इसे भी पढ़ें: ब्रिटेन में ‘ओमीक्रोन’ के मामलों की संख्या 22 हुई, सार्वजनिक स्थलों पर मास्क पहनना अनिवार्य

मंत्री मोंडली गुंगुबेले ने एक बयान में कहा कि गृह मंत्री का स्वास्थ्य बेहतर है और वह पृथक-वास में हैं। ज़ुलु ने टीका नहीं लगवाने वाले लोगों से दक्षिण अफ्रीका में तीन से पांच दिसंबर तक चलने वाले वूमा टीकाकरण सप्ताहांत अभियान का लाभ उठाने का आग्रह किया है। उन्होंने कहा, ‘‘जैसा कि राष्ट्रपति रामफोसा ने जोर दे कर कहा है, टीकाकरण हमारे पास सबसे शक्तिशाली ‘टूल’ है और चौथी लहर के आने से पहले टीके की खुराक लेने में अब भी देर नहीं हुई है।’’ वायरस के नए स्वरूप ओमीक्रोन के सामने आने के बाद अधिकारियों को टीकाकरण अभियान में भीड़ जुटने की संभावना है और उम्मीद है कि ओमीक्रोन को लेकर पिछले कुछ हफ्तों से मीडिया में प्रचार बढ़ने के बाद टीका लेने से झिझक रहे लोग टीके की खुराक ले सकते हैं।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।



Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

अंतर्राष्ट्रीय

झरोखे से...