संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद ने मैनचेस्टर हमले की निंदा की

संयुक्त राष्ट्र ने मैनचेस्टर में हुए हमले को ‘नृशंस और कायरतापूर्ण’ बताते हुए कड़ी निंदा की है। सुरक्षा परिषद ने कहा है कि आतंकवाद अंतरराष्ट्रीय शांति और सुरक्षा के लिए खतरा पैदा कर रहा है।

संयुक्त राष्ट्र। संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद ने मैनचेस्टर में हुए हमले को ‘नृशंस और कायरतापूर्ण’ बताते हुए कड़ी निंदा की है। सुरक्षा परिषद ने जोर देते हुए कहा है कि आतंकवाद अंतरराष्ट्रीय शांति और सुरक्षा के लिए गंभीर खतरा पैदा कर रहा है। संयुक्त राष्ट्र के महासचिव एंतोनियो गुतारेस ने मैनचेस्टर एरेना में कॉन्सर्ट के लिए इकट्ठा हुए लोगों को निशाना बनाकर किए गए इस हमले की कड़ी निंदा की है। यह आत्मघाती हमला लीबियाई मूल के सलमान अबिदी ने अमेरिकी पॉप स्टार एरियाना ग्रैंडे के कॉन्सर्ट के अंत में अंजाम दिया था। इस हमले में 22 लोगों की मौत हो गई और कई घायल हो गए। आईएसआईएस ने इस हमले की जिम्मेदारी ली है।

सुरक्षा परिषद ने मंगलवार को अपनी बैठक से पहले ‘नृशंस और कायरतापूर्ण’ हमले का शिकार हुए पीड़ितों के सम्मान में कुछ क्षणों का मौन रखा। परिषद ने इस बात को दोहराया है कि किसी भी रूप और प्रतिकरण में आतंकवाद अंतरराष्ट्रीय शांति और सुरक्षा के लिए गंभीर खतरों में से एक है। पंद्रह सदस्यों वाली परिषद ने मंगलवार को जारी की गई एक प्रेस विज्ञप्ति में ब्रिटेन के साथ आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई में एकजुटता जाहिर करते हुए आतंकवाद और हिंसक चरमपंथ से निपटने के लिए क्षेत्रीय और अंतरराष्ट्रीय प्रयासों को तेज करने पर जोर दिया।

प्रेस विज्ञप्ति में कहा गया, ‘‘सुरक्षा परिषद के सदस्यों ने इस निंदनीय कृत्यों के दोषियों, षड्यंत्रकर्ताओं और इनका वित्तपोषण करने वालों को न्याय के कठघरे में खड़े करने की जरूरत को रेखांकित किया है।’’ संयुक्त राष्ट्र के महासचिव के प्रवक्ता स्टीफन डुजारिक द्वारा जारी एक बयान में गुतारेस ने ब्रिटेन की सरकार और वहां की जनता के प्रति संवदेना और एकजुटता प्रकट की है। उन्होंने इस घटना में मारे गए लोगों के परिवारों और दोस्तों के प्रति संवेदना व्यक्त की तथा घायलों के जल्द ठीक होने की कामना की। विज्ञप्ति में कहा गया है, ‘‘महासचिव को आशा है कि इस घृणित हमले के पीछे जो भी जिम्मेदार हैं, उन्हें जल्द ही गिरफ्तार किया जाएगा और न्याय के दायरे में लाया जाएगा।’’

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


अन्य न्यूज़