तिब्बती लोगों की ‘सार्थक’ स्वायत्तता में कमी को लेकर अमेरिका चिंतित

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  मार्च 27, 2019   18:48
तिब्बती लोगों की ‘सार्थक’ स्वायत्तता में कमी को लेकर अमेरिका चिंतित

उन्होंने कहा, ‘‘ लेकिन ठीक इसी समय हम तिब्बत के लोगों के लिए सार्थकस्वायत्तता में कमी, मानवाधिकारों की खराब होती स्थिति, उनकी धार्मिक स्वतंत्रता एवं सांस्कृतिक अधिकारों पर लगे कड़े प्रतिबंधों पर चिंता जताते हैं।”

वॉशिंगटन। अमेरिकी सरकार ने तिब्बत के लोगों के लिए ‘सार्थक’स्वायत्तता में कमी को लेकर चिंता व्यक्त की है। विदेश मंत्रालय के उप प्रवक्ता रॉबर्ट पैलाडिनो ने संवाददाता सम्मेलन में मंगलवार को कहा कि तिब्बत पर अमेरिका की नीति चीन की क्षेत्रीय अखंडता का सम्मान करने की है और वह तिब्बत को चीन का हिस्सा मानता है।

इसे भी पढ़ें: चीन में मानवाधिकारों का उल्लंघन करने वाले के खिलाफ बड़ी कार्रवाई करेगा अमेरिका

उन्होंने कहा, ‘‘ लेकिन ठीक इसी समय हम तिब्बत के लोगों के लिए सार्थकस्वायत्तता में कमी, मानवाधिकारों की खराब होती स्थिति, उनकी धार्मिक स्वतंत्रता एवं सांस्कृतिक अधिकारों पर लगे कड़े प्रतिबंधों पर चिंता जताते हैं।”

पैलाडिनो ने कहा कि अमेरिका चीन से तिब्बत के लोगों के मानवाधिकारों का हनन रोकने और धार्मिक, सांस्कृतिक तथा भाषाई पहचान पर लगे प्रतिबंधों को हटाने की अपील करता रहेगा।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।