अमेरिकी ठेकेदार मार्क फ्रेरिक्स को तालिबान ने रिहा किया

Taliban
प्रतिरूप फोटो
Google Creative Commons
अफगानिस्तान में तालिबान द्वारा दो साल से अधिक समय पहले बंधक बनाये गये अमेरिकी ठेकेदार मार्क फ्रेरिक्स के परिवार ने सोमवार को कहा कि उन्हें छोड़ दिया गया है। अमेरिकी नौसेना के पूर्व सैनिक एवं निर्माण कार्यों केठेकेदार मार्क फ्रेरिक्स का 31 जनवरी 2020 को अफगानिस्तान में अपहरण कर लिया गया था।

अफगानिस्तान में तालिबान द्वारा दो साल से अधिक समय पहले बंधक बनाये गये अमेरिकी ठेकेदार मार्क फ्रेरिक्स के परिवार ने सोमवार को कहा कि उन्हें छोड़ दिया गया है। अमेरिकी नौसेना के पूर्व सैनिक एवं निर्माण कार्यों केठेकेदार मार्क फ्रेरिक्स का 31 जनवरी 2020 को अफगानिस्तान में अपहरण कर लिया गया था। मार्क फ्रेरिक्स अफगानिस्तान में एक दशक से भी अधिक समय से ठेकेदार के रूप में काम कर रहे थे। तालिबान से संबंधित हक्कानी नेटवर्क ने फ्रेरिक्स का अपहरण किया था। फ्रेरिक्स की रिहाई अमेरिका और तालिबान के बीच हुए एक समझौते के तहत की गयी है।

इस समझौते के तहत तालिबान के सदस्य बशीर नूरजई को अमेरिकी हिरासत से रिहा किया गया है। मादक पदार्थों की तस्करी करने वाले सरगना और तालिबान के सदस्य बशीर नूरजई ने काबुल में संवाददाताओं से बातचीत में कहा कि उसने अमेरिकी कारागार में 17 साल व छह महीने बिताए। अमेरिकी प्रशासन की ओर से अदला बदली के तहत कैदियों को रिहा करने की अब तक पुष्टि नहीं की गयी है। अमेरिका के इलिनॉयस के लोमबार्ड में रहने वाले फ्रेरिक्स की एक बहन ने अमेरिकी सरकार को इसके लिए धन्यवाद दिया है।

फ्रेरिक्स की बहन चार्लेन काकोरा ने एक बयान में कहा,“मुझे यह सुनकर बहुत खुशी हुई कि मेरा भाई सुरक्षित है और घर आ रहा है। हमारे परिवार ने 31 महीने से अधिक समय से उसकी रिहाई के लिए प्रार्थना की है। हमने कभी उम्मीद नहीं छोड़ी।’’ वहीं, तालिबानी अधिकारियों ने दावा किया है कि बशीर नूरजई को ग्वांतनामो स्थित अमेरिकी कारागार से रिहा किया गया है, लेकिन उन बयानों की पुष्टि नहीं हो सकी। नूरजई के साथ तालिबान के विदेश मंत्री अमीर खान मुत्तकी ने भी संवाददाता सम्मेलन को संबोधित किया। मुत्तकी ने इस अदला-बदली का स्वागत करते हुए कहा कि यह अमेरिका और तालिबान के संबंधों का ‘नया युग’ है।

मुत्तकी ने बताया कि 31 जनवरी 2020 को अफगानिस्तान से अपहृत पूर्व अमेरिकी नौसैनिक और सिविल कॉन्ट्रेक्टर मार्क फ्रेरिक्स को रिहा किया गया है। फ्रेरिक्स को आखिरी बार इस साल के शुरू में एक वीडियो में देखा गया था, जिसमें वह अपनी रिहाई की गुहार लगाता दिख रहा है ताकि वह अपने परिवार से मिल सके। इस वीडियों को ‘द न्यू यॉर्कर मैगजीन’ ने साझा किया था। फ्रेरिक्स की रिहाई को लेकर न तो स्वतंत्र पुष्टि हुई है और न ही अमेरिका ने इस बारे में कुछ कहा है। मुत्तकी ने काबुल में आयोजित संवाददाता सम्मेलन में कहा, ‘‘यह अफगानिस्तान और अमेरिका के बीच नया अध्याय है।

यह दोनों देशों के बीच नए दरवाजे खोल सकता है।’’ उसने कहा, ‘‘यह दर्शाता है कि सभी समस्याओं का समाधान बातचीत के जरिये हो सकता है और मैं दोनों पक्षों की टीम को धन्यवाद देता हूं जिन्होंने इस मुकाम पर पहुंचने के लिए कड़ी मेहनत की।’’ फ्रेरिक्स इलिनॉयस का रहने वाला है और माना जा रहा है कि हक्कानी नेटवर्क से जुड़े तालिबान ने उसे बंधक बनाया था। अमेरिकी अधिकारियों ने उसे रिहा कराने की कोशिश की थी, लेकिन असफल रहे। अपहरण के बाद फ्रेरिक्स पहली बार जिस वीडियो में दिखा था, उसमें उसने बताया कि यह पिछले साल नवंबर में रिकॉर्ड किया गया था।

वीडियो जारी किए जाने के बाद एफबीआई ने इसकी प्रामाणिकता पर टिप्पणी करने से इनकार कर दिया था, लेकिन फ्रेरिक्स की बहन शार्लिने केकोरा ने एक बयान जारी कर वीडियो के लिए तालिबान को धन्यवाद ज्ञापित किया था। तालिबान ने सोमवार को एक संक्षिप्त वीडियो भी सोशल मीडिया पर जारी किया जिसमें दिख रहा है कि नूरजई के काबुल हवाई अड्डे पर आने पर मुत्तकी सहित तलिबान के शीर्ष अधिकारी उसका स्वागत कर रहे हैं। काबुल में तालिबान का संदर्भ देते हुए नूरजई ने कहा कि ‘‘मुजाहिदीन भाइयों’’ को देखकर वह खुश है। उसने कहा, ‘‘ मैं तालिबान की और सफलता की कामना करता हूं। मुझे उम्मीद है कि कैदियों की इस अदला-बदली से अफगानिस्तान और अमेरिका शांति की ओर बढ़ेंगे क्योंकि अमेरिकी को रिहा किया गया और अब मैं आजाद हूं।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


अन्य न्यूज़