North Korean | अमेरिका ने उत्तर कोरियाई कंपनी के लिए काम करने पर भारतीय नागरिक पर प्रतिबंध लगाए

North Korean company
Prabhasakshi
अमेरिकी विदेश विभाग के अनुसार, अमेरिका ने उत्तर कोरियाई सरकार द्वारा संचालित एनिमेशन स्टूडियो ‘एसईके स्टूडियो’ की ओर से काम करने और उसे सहयोग मुहैया कराने के लिए दो लोगों तथा सात संस्थाओं पर प्रतिबंध लगाए हैं।

वाशिंगटन। अमेरिका ने उत्तर कोरियाई सरकार द्वारा संचालित एनिमेशन स्टूडियो की ओर से काम करने और उसे सहयोग देने के लिए एक भारतीय नागरिक समेत दो लोगों और सात संस्थाओं पर प्रतिबंध लगाए हैं। अमेरिका ने अंतरराष्ट्रीय मानवाधिकार दिवस की पूर्व संध्या और अंतरराष्ट्रीय भ्रष्टाचार रोधी दिवस के मौके पर शुक्रवार को यह कार्रवाई की। उसने दुनियाभर में मानवाधिकारों के दुरुपयोग और भ्रष्टाचार के लिए जवाबदेही तय करने के प्रयास के तौर पर यह कार्रवाई की।

इसे भी पढ़ें: Bilkis Bano की याचिका पर सुप्रीम कोर्ट में 13 दिसंबर को होगी सुनवाई, बलात्कार-हत्या के दोषियों की जल्द रिहाई के आदेश को दी गई है चुनौती

अमेरिकी विदेश विभाग के अनुसार, अमेरिका ने उत्तर कोरियाई सरकार द्वारा संचालित एनिमेशन स्टूडियो ‘एसईके स्टूडियो’ की ओर से काम करने और उसे सहयोग मुहैया कराने के लिए दो लोगों तथा सात संस्थाओं पर प्रतिबंध लगाए हैं। जिन लोगों और संस्थाओं पर प्रतिबंध लगाए गए हैं, उनमें फ्रांस में रहने वाले किम म्यांग चोल, भारत के सुभाष जाधव, हांगकांग की एवरलास्टिंग एम्पायर लिमिटेड, तिआन फेंग (हांगकांग) होल्डिंग लिमिटेड, चीन की फुजियान नान इंपोर्ट एंड एक्सपोर्ट कंपनी, रूसी संघ की लिमिटेड लायएबिलिटी कंपनी काइनोटिस, सिंगापुर की फनसागा पी लिमिटेड, चीन की यांगचेंग थ्री लाइन वन प्वाइंट एनिमेशन को लिमिटेड और क्वांझू यियांगजिन इंपोर्ट एंड एक्सपोर्ट ट्रेड को लिमिटेड शामिल हैं।

इसे भी पढ़ें: जलवायु विहार सोसाइटी मारपीट मामले में आया नया मोड़, दूसरे पक्ष ने वीडियो जारी करते हुए डॉ. रश्मि पर लगाये गंभीर आरोप

अमेरिका के वित्त विभाग ने बताया कि जाधव फनसागा पी लिमिटेड के निदेशक हैं और उन्होंने एक एनिमेशन प्रोजेक्ट के निर्माण के लिए एसईके के साथ करार किया था।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


अन्य न्यूज़