अमेरिका ने रूस से कहा, ओपन स्काइज के हथियार नियंत्रण समझौते में शामिल नहीं होगा

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  मई 28, 2021   17:06
अमेरिका ने रूस से कहा, ओपन स्काइज के हथियार नियंत्रण समझौते में शामिल नहीं होगा

अमेरिका ने रूस को बताया कि,ओपन स्काइज हथियार नियंत्रण समझौते में फिर से शामिल नहीं होंगे।इस संधि से अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने अमेरिका को अलग कर लिया था। बृहस्पतिवार के फैसले का यह मतलब है कि विश्व की प्रमुख परमाणु शक्तियों के बीच केवल एक मुख्य हथियार नियंत्रण संधि है जिसका नाम ‘न्यू स्टार्ट संधि’ है।

वाशिंगटन। बाइडेन प्रशासन ने बृहस्पतिवार को रूस को सूचित किया कि अमेरिका एक प्रमुख हथियार नियंत्रण समझौते में फिर से शामिल नहीं होगा। अमेरिका ने रूस को यह स्पष्टीकरण ऐसे समय दिया है जब दोनों पक्ष अपने नेताओं के बीच अगले महीने होने वाली शिखर बैठक की तैयारी कर रहे हैं। अमेरिकी अधिकारियों ने बताया कि अमेरिका की उप विदेश मंत्री वेंडी शेरमेन ने रूस के अधिकारियों को बताया कि अमेरिकी प्रशासन ने ओपन स्काई संधि में फिर से प्रवेश नहीं करने का फैसला किया है जिसके तहत दोनों देशों में सैन्य इकाइयों पर निगरानी उड़ानों की अनुमति थी।

इसे भी पढ़ें: पाकिस्तान ने बांग्लादेश नरसंहार का खुलासा करने वाले हिंदू संगठन को धमकाया

इस संधि से अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने अमेरिका को अलग कर लिया था। बृहस्पतिवार के फैसले का यह मतलब है कि विश्व की प्रमुख परमाणु शक्तियों के बीच केवल एक मुख्य हथियार नियंत्रण संधि है जिसका नाम ‘न्यू स्टार्ट संधि’ है। ट्रंप ने न्यू स्टार्ट संधि का विस्तार करने के लिए कुछ नहीं किया, जो इस साल की शुरुआत में समाप्त होनी थी लेकिन जो बाइडन के अमेरिका के राष्ट्रपति के तौर पर पद ग्रहण करने के बाद उनका प्रशासन इसे पांच साल के लिए विस्तारित करने के लिए तेजी से आगे बढ़ा और ओपन स्काइज संधि से हटने की समीक्षा शुरू की।

इसे भी पढ़ें: भारत-अमेरिका साझेदारी की समीक्षा के लिए जयशंकर ने की US NSA जेक सुलिवन से मुलाकात

अधिकारियों ने कहा कि समीक्षा पूरी हो चुकी है और शेरमेन ने रूस के उप विदेश मंत्री सर्गेई रयाबकोव को बृहस्पतिवार को ‘ओपन स्काई संधि’ में नहीं लौटने के अमेरिकी फैसले के बारे में सूचित किया। अधिकारी इस मामले पर सार्वजनिक रूप से चर्चा करने के लिए अधिकृत नहीं थे और उन्होंने यह जानकारी नाम गुप्त रखने की शर्त पर दी। अमेरिका की ओर से यह कदम ऐसे समय में आया है जब राष्ट्रपति जो बाइडन और रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन 16 जून को जिनेवा, स्विट्जरलैंड में बैठक करने वाले हैं।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।



Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

अंतर्राष्ट्रीय

झरोखे से...