शाही परिवार से अलग हुए प्रिंस हैरी, दुनिया के कई शाही सदस्‍यों ने ठुकराया रॉयल दर्जा

शाही परिवार से अलग हुए प्रिंस हैरी, दुनिया के कई शाही सदस्‍यों ने ठुकराया रॉयल दर्जा

ब्रिटेन का शाही परिवार दुनिया का सबसे चर्चित शाही परिवार है। महारानी एलिजाबेथ-द्वितीय, बेटे-बहुओं, पोते, पोतियों के अलावा रानी के करीबी रिश्तेदार इस शाही परिवार के सदस्य हैं। इस परिवार का नाम आते ही हमें उनका शाही अंदाज नजर आता है, उनकी ठाठबाट दिखती है।

दुनिया का एक ऐसा शख्स जो जब आखिरी सांस लेगा तो कई देशों की करंसी ही बदल जाएगी। उसकी मौत सदी की सबसे बड़ी घटनाओें में से एक होगी। हम बात कर रहे हैं ब्रिटेन के रायल फैमली की और उनकी महारानी एलिजाबेथ द्वतीय की जो पिछले 67 सालों से ब्रिटेन के राज सिंहासन पर काबिज हैं। 93 साल की हो चुकी महारानी का कार्यकाल इतना लंबा रहा है कि महारानी पिछले 67 सालों से ब्रिटेन के राज सिंहासन पर काबिज है। 93 साल की हो चुकी महारानी का ये शासनकाल इतना लंबा है कि उनके पिछले चार प्रधानमंत्रियों में से तीन की उम्र उनके शासनकाल से भी कम है। खैर, महारानी उम्र के उस पड़ाव पर हैं जहां से अगली मंजिल शायद हम सभी जानते हैं।

लेकिन ब्रिटेन की महारानी एलिजाबेथ द्वितीय अपने पौत्र हैरी और उनकी पत्नी मेगन की इच्छा के सामने हार गई हैं जो ज्यादा स्वतंत्र जिंदगी जीना चाहते हैं। ब्रिटेन के राजकुमार हैरी और उनकी पत्नी मेगन मर्केल ने राजपरिवार की ओर से मिली वरिष्ठता छोड़ने का ऐलान किया है। दोनों ने बुधवार को अपनी वेबसाइट और इंस्टाग्राम पर कहा कि वे शाही परिवार के 'वरिष्ठ' सदस्य के पद से अलग हो रहे हैं और आर्थिक रूप से आत्मनिर्भर बनने के लिए योजना बना रहे हैं। इस मुद्दे पर विवाद सुलझाने के लिए 13 जनवरी 2020 को ब्रिटिश शाही परिवार की एक आपात बैठक बुलाई गई थी।

लेकिन ब्रिटिश मीडिया ने इस प्रकरण को 'ब्रेक्जिट' की तर्ज पर 'मेग्जिट' नाम दिया है। प्रिंस चार्ल्स और प्रिंसेस डायना के छोटे बेटे प्रिंस हैरी और उनकी पत्नी मेगन मॉर्कल के शाही खानदान की मुख्यधारा से अलग होने की खबर से ब्रिटेन के अखबार रंगे हुए हैं। ‘द टेलीग्राफ’ के मास्टहेड के बाईं तरफ हैरी-मेगन और दाईं तरफ विलियम-चार्ल्स की तस्वीरें ब्रिटिश राजघराने में तलवारें खिंची होने का आभास दे रही हैं। प्रिंस हैरी और मेगन की शादी मई 2018 में हुई थी। तब इनकी शादी में जनता के 3.2 करोड़ पाउंडकरीब (297 करोड़ रुपए) खर्च हुए थे। इसके अलावा हाल ही में दोनों ने विंडसर पैलेस स्थित अपने घर के रेनोवेशन में ही 24 लाख पाउंड (करीब 22 करोड़ रु.) लगा दिए थे।

प्रिंस हैरी की घोषणा का ठीक-ठीक मतलब क्या है, शाही विरासत का कौन-सा हिस्सा वे अपने साथ रखना चाहते हैं और किससे पीछा छुड़ाना चाहते हैं, इस विरासत के चलते बैठे-बिठाए होती रहने वाली कितनी आमदनी उन्हें अलग होने के  बाद भी मिलती रहेगी, यह सब खानदान की आपसी बातचीत के बाद सामने आएगा। लेकिन आपको चार लाइनों में बता देते हैं कि प्रिंस हैरी और मेगन के शाही परिवार की वरिष्ठता छोड़ने का क्या होगा असर?

प्रिंस हैरी और मेगन को शाही उपाधि ‘हिज और हर रायल हाइनेस’ (एचआरएच) छोड़नी होगी

ब्रिटेन में विंडसर महल में अपने पुराने घर में ही रहेंगे। इसके रेनोवेशन में 22  करोड़ रुपए खर्च हुए।

प्रिंस हैरी और मेगन चैरेटी चलाते हैं, आत्मनिर्भर बनने के लिए प्रिंस हैरी नौकरी कर सकते हैं। मेगन मोर्कल पहले एक्ट्रेस रह चुकी हैं। वें एक्टिंग शुरू कर सकती हैं।

प्रिंस हैरी और मेगन डच और डचेज आफ ससेक्स हैं वे इस पद पर बने रहेंगे।

अभी मोटे तौर पर लग रहा है कि शुरू से ही कामकाजी, आत्मनिर्भर मेगन मॉर्कल को ब्रिटेन के शाही खानदान का सांचे में ढला हुआ जीवन रास नहीं आ रहा। बच्चा हो जाने के बाद वह अपनी स्वाभाविक दुनिया में लौटना चाहती हैं। रही बात प्रिंस हैरी की तो शुरू से ही उनकी छवि शाही व्यक्तित्व की जरूरतों से बहुत अलग रही है। काम करके खाना तो दूर की कौड़ी है, इसकी उम्मीद उनसे नहीं की जाती। लेकिन अपने होने का कोई औचित्य सिद्ध करने की जद्दोजहद उनके समूचे वयस्क जीवन में दिखाई देती रही है। उनकी पैदाइश 1984 की है, यानी उनकी मां डायना उनके छुटपन से ही शाही परिवार से दूर जाने लगी होंगी। 1996 में डायना ने प्रिंस चार्ल्स पर बेवफाई का आरोप लगाते हुए उनसे अलग होने की घोषणा की थी और 1997 में उनकी मृत्यु ही हो गई। इसके दो साल बाद, 15 साल की उम्र में प्रिंस हैरी को मनोचिकित्सक की मदद लेनी पड़ी, जो अक्सर मामला बेकाबू होने के बाद ही ली जाती है।

ब्रिटेन का शाही परिवार दुनिया का सबसे चर्चित शाही परिवार है। महारानी एलिजाबेथ-द्वितीय, बेटे-बहुओं, पोते, पोतियों के अलावा रानी के करीबी रिश्तेदार इस शाही परिवार के सदस्य हैं। इस परिवार का नाम आते ही हमें उनका शाही अंदाज नजर आता है, उनकी ठाठबाट दिखती है। लेकिन क्या आपको पता है कि इस शाही परिवार में कई ऐसे अजीब नियम बने हैं, जो हर किसी को मानने पड़ते हैं। ये नियम वर्षों से चले आ रहे हैं।

अगर रानी खड़ी होती हैं, तो वहां मौजूद हर शख्स के लिए खड़े होना जरूरी है। अगर आप रानी के साथ टेबल पर खाना खा रहे हैं, तो रानी के आखिरी निवाला खाने के बाद वहां मौजूद कोई भी शख्स खाना नहीं खा सकता। रानी का अभिवादन करते समय शाही परिवार के पुरुष को गर्दन झुकानी होती है। जबकि महिलाओं को थोड़ा झुककर सम्मान देना होता है।

परिवार के दो वारिस एक साथ सफर नहीं कर सकते। यानी पिता भी अपने पुत्र के साथ सफर नहीं कर सकता। यह नियम उत्तराधिकारी की सुरक्षा के लिए बनाया गया है। हालांकि प्रिंस विलियम और केट ने हाल में यह नियम तोड़ते हुए अपने बच्चे के साथ सफर किया। लेकिन बाद में इस पर रोक लग गई।

दुनिया के कई शाही परिवार के सदस्‍यों ने भी ठुकराया शाही दर्जा

प्रिंस हैरी और मेगन ने शाही परिवार से अलग होने की बात कहकर सभी को चौंका दिया था। हालांकि ये फैसला लेने वाले वो अकेले शाही दंपति नहीं हैं। इससे पहले भी कुछ देशों में राज परिवार के सदस्‍य ऐसा कर चुके हैं।

जापान की राजकुमारी अयाको ने एक वर्ष पहले ही एक आम आदमी से शादी करने का फैसला लिया था तो शाही परिवार में भूचाल आ गया था। वहां पर नियम है कि यदि राजकुमारी आम आदमी से शादी करेगी तो उसको शाही परिवार के सदस्‍य का दर्जा छोड़ना पड़ेगा।

वर्ष 2017 में मलेशिया के केलातन के राजा सुल्तान मोहम्मद पंचम ने रूसी मॉडल रिहाना ओकसाना से शादी करने के लिए शाही गद्दी को त्‍याग दिया था।

नॉर्वे की राजकुमारी मार्था ने आम आदमी अरि बेह्न से शादी कर शाही परिवार के दर्जे को ठुकरा दिया था। नॉर्वे के राजा हैराल्ड पंचम ने भी इस पर वर्ष 2002 में मुहर लगाते हुए शाही परिवार से राजकुमारी को अलग कर दिया था।  






Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

राजनीति

झरोखे से...