...तो हैदराबाद की यात्रा के लिए पाकिस्तानी वीजा की जरूरत पड़ती

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  नवंबर 27, 2018   20:27
...तो हैदराबाद की यात्रा के लिए पाकिस्तानी वीजा की जरूरत पड़ती

मोदी ने कहा, ‘‘राव ने अविभाजित आंध्र प्रदेश में शुरूआती प्रशिक्षण पाया था, जब वह चंद्रबाबू नायडू सरकार में नौसिखुआ (मंत्री के तौर पर) थे।

महबूबनगर (तेलंगाना)। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को कहा कि यदि सरदार वल्लभभाई पटेल ने हैदराबाद को निजाम के शासन से मुक्त नहीं कराया होता तो वहां की यात्रा के लिए पाकिस्तानी वीजा की जरूरत पड़ती। एक समय में देसी रियासत रहे हैदराबाद का भारत में विलय करने में पटेल की महत्वपूर्ण भूमिका को याद करते हुए मोदी ने कहा कि देश के प्रथम गृहमंत्री के चलते ही हम आज के तेलंगाना की राजधानी हैदराबाद में ‘‘भारत मात की जय’ के नारे लगा सकते हैं। मोदी ने यहां एक चुनाव रैली में कहा कि यदि एक किसान के बेटे पटेल भारत के प्रथम प्रधानमंत्री बने होते तो किसानों की स्थिति खराब नहीं रहती। 

उन्होंने कहा, ‘‘कांग्रेस और टीआरएस का किसानों के बारे में बात करना उन्हें (दोनों पार्टियों को) शोभा नहीं देता। किसानों की आज की दशा के लिए कांग्रेस का 70 साल का शासन और टीआरएस सरकार के पांच साल जिम्मेदार हैं।’’ उन्होंने नामदार (राहुल गांधी) से किसानों के लिए घड़ियाली आंसू नहीं बहाने को कहा। मोदी ने कहा कि उनकी सरकार तेलंगाना के विकास और राज्य के लोगों के कल्याण के लिए प्रतिबद्ध है। उन्होंने राज्य में केंद्र के कोष से संचालित विभिन्न परियोजनाएं भी गिनाईं।

यह भी पढ़ें: नहीं माने बड़बोले सिद्धू, पाकिस्तान में उठा दिया राफेल मुद्दा

प्रधानमंत्री ने आरोप लगाया कि कांग्रेस और टीआरएस तेलंगाना चुनाव में ‘नूरा कुश्ती ’ लड़ रही हैं।उन्होंने कहा , ‘‘कांग्रेस और टीआरएस परिवारवादी पार्टियां हैं। दोनों ही (पार्टियां) एक ही सिक्के के दो पहलू हैं। दोनों ही वोट बैंक की और जाति आधारित राजनीति करती है। कांग्रेस भाई - भाई को आपस में लड़ाती है, हिंदुओं को मुसलमानों से लड़ाती है, गांवों को शहरों से भिड़ाती है। टीआरएस भी यही करती है।’’ मोदी ने कहा के टीआरएस का मुस्लिम आरक्षण (बढ़ाने) के बारे में बात करना वोट बैंक की राजनीति है जो कांग्रेस लंबे समय से करती आ रही है। ।उन्होंने कहा कि राज्य के कार्यवाहक मुख्यमंत्री (के– चंद्रशेखर राव) आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री एन चंद्रबाबू नायडू और संप्रग अध्यक्ष सोनिया गांधी के ‘‘चेले’’ हैं।

यह भी पढ़ें: कांग्रेसी गुस्सा होते रहें, मैं तो जनता की जिंदगी में बदलाव लाकर रहूंगा: शिवराज

मोदी ने कहा, ‘‘राव ने अविभाजित आंध्र प्रदेश में शुरूआती प्रशिक्षण पाया था, जब वह चंद्रबाबू नायडू सरकार में नौसिखुआ (मंत्री के तौर पर) थे। बाद में वह दिल्ली गए और मैडम (सोनिया गांधी) की सरकार (संप्रग) में प्रशिक्षण लिया। एक व्यक्ति जिसने ऐसे गुरूओं के तहत प्रशिक्षण लिया हो वह निश्चित तौर पर तेलंगाना को बर्बाद कर देगा।’’ प्रधानमंत्री ने कहा कि यदि आप तेलंगाना को इन लोगों के हाथों में और पांच साल सौंप देंगे तो आपकी कुर्बानी बेकार जाएगी, आपका भविष्य अंधकारमय हो जाएगा। उन्होंने मतदाताओं से तेलंगाना की खातिर शहीद हुए लोगों की याद में यह संकल्प लेने को कहा कि वे लोग कांग्रेस के एक भी उम्मीदवार को नहीं जिताएंगे।सिंह ने बीकानेर के साथ-साथ झुंझुनू और जैसलमेर में भी सभाओं को संबोधित किया।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

राष्ट्रीय

झरोखे से...