मध्यप्रदेश में कोरोना वायरस के 1064 नए मामले, 17 लोगों की मौत

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  अगस्त 27, 2020   08:11
मध्यप्रदेश में कोरोना वायरस के 1064 नए मामले, 17 लोगों की मौत

अधिकारी ने बताया कि प्रदेश में बुधवार को कोविड-19 के सबसे अधिक 187 नये मामले इंदौर जिले में आये है, जबकि भोपाल में 129, ग्वालियर में 102, जबलपुर में 117, शिवपुरी में 44, खरगोन में 33, एवं सागर में 35 नये मामले आये।

भोपाल।  मध्यप्रदेश में बुधवार को कोरोना वायरस संक्रमण के 1064 नए मामले सामने आए और इसके साथ ही प्रदेश में इस वायरस से अब तक संक्रमित लोगों की कुल संख्या 56,864 तक पहुंच गयी। राज्य में पिछले 24 घंटों में इस बीमारी से 17 और व्यक्तियों की मौत की पुष्टि हुई है जिससे मरने वालों की संख्या बढ़कर 1,282 हो गयी है। मध्यप्रदेश के एक स्वास्थ्य अधिकारी ने बताया, ‘‘पिछले 24 घंटों के दौरान प्रदेश में कोरोना वायरस के संक्रमण से इंदौर में तीन, भोपाल, दमोह व जबलपुर में दो-दो, और ग्वालियर, मुरैना, सागर, विदिशा, छतरपुर, होशंगाबाद, सतना एवं हरदा में एक-एक मरीज की मौत की पुष्टि हुई है।’’

उन्होंने बताया, ‘‘राज्य में अब तक कोरोना वायरस से सबसे अधिक 371 मौत इंदौर में हुई हैं। भोपाल में 266, उज्जैन में 78, सागर में 47, जबलपुर में 69, ग्वालियर में 37,बुरहानपुर में 25, खंडवा में 21, एवं खरगोन में 25 लोगों की मौत हुई हैं। बाकी मौतें अन्य जिलों में हुई हैं।’’ अधिकारी ने बताया कि प्रदेश में बुधवार को कोविड-19 के सबसे अधिक 187 नये मामले इंदौर जिले में आये है, जबकि भोपाल में 129, ग्वालियर में 102, जबलपुर में 117, शिवपुरी में 44, खरगोन में 33, एवं सागर में 35 नये मामले आये। 

इसे भी पढ़ें: बीजेपी अध्यक्ष विष्णुदत्त शर्मा ने किया सवाल कमलनाथ बताएं, चंबल एक्सप्रेस वे को ठंडे बस्ते में क्यों डाला ?

उन्होंने कहा कि प्रदेश में कुल 56,864 संक्रमितों में से अब तक 43,246 मरीज स्वस्थ होकर घर चले गये हैं और 12,336 मरीजों का इलाज विभिन्न अस्पतालों में चल रहा है। उन्होंने कहा कि मंगलवार को 936 रोगियों को ठीक होने के बाद अस्पताल से छुट्टी दे दी गई।  अधिकारी ने बताया कि वर्तमान में राज्य में कुल 4,677 निषिद्ध क्षेत्र हैं।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

राष्ट्रीय

झरोखे से...