इटावा के पास बड़ा ट्रेन हादसा, गाजियाबाद की ओर कोयला लेकर जा रही मालगाड़ी के 12 डिब्बे पलटे

इटावा के पास बड़ा ट्रेन हादसा, गाजियाबाद की ओर कोयला लेकर जा रही मालगाड़ी के 12 डिब्बे पलटे
ANI twitter

माना जा रहा है कि किसी तकनीकी खामी की वजह से यह हादसा हुआ है। घटना के बाद स्थानीय अधिकारी तत्काल घटनास्थल पर पहुंच गए। इस घटना की वजह से दिल्ली और हावड़ा के बीच रेल यातायात में अवरुद्ध हुआ है। पटरिया भी क्षतिग्रस्त हो गई है। इस घटना के बाद कई यात्री ट्रेनें भी लेट से चल रही हैं।

देश में कोयला का संकट है। यही कारण है कि मालगाड़ी के जरिए अलग-अलग पावर प्लांट में कोयले की सप्लाई निरंतर की जा रही है। कोयले की सप्लाई में कोई बाधा न पहुंचे, इसके लिए 600 से ज्यादा यात्री ट्रेनों को निरस्त कर दिया गया है। इन सब के बीच बड़ा हादसा इटावा के पास हुआ। दरअसल, शनिवार को एक मालगाड़ी यहां दुर्घटनाग्रस्त हो गई। जानकारी के मुताबिक डेडीकेटेड फ्रेट कॉरिडोर पर कोयले से लदे मालगाड़ी के 12 डिब्बे पलट गए हैं।

कोयला लदी मालगाड़ी कानपुर की ओर से आ रही थी जबकि गाजियाबाद की दिशा में जा रही थी। फिलहाल मौके पर टीम पहुंच गई है। लेकिन अब तक यह साफ नहीं हो पाया है कि आखिर यह घटना कैसे हुई। जानकारी में बताया गया है कि हरियाणा के कलानौर की ओर जाने वाली कोयले से भरी एक मालगाड़ी आज सुबह 11.10 बजे ईस्टर्न डेडिकेटेड फ्रेट कॉरिडोर (DFC) के नए एकदिल (EKL) रेलवे स्टेशन पर पटरी से उतर गई है। यह स्टेशन इटावा से लगभग 30 किमी पूर्व में स्थित है। 

इसे भी पढ़ें: कोयला संकट के बीच केंद्र पर बरसे भूपेश बघेल, बोले- देश में अगर नहीं है कमी तो क्यों बंद की गईं यात्री ट्रेन सेवाएं ?

माना जा रहा है कि किसी तकनीकी खामी की वजह से यह हादसा हुआ है। घटना के बाद स्थानीय अधिकारी तत्काल घटनास्थल पर पहुंच गए। इस घटना की वजह से दिल्ली और हावड़ा के बीच रेल यातायात में अवरुद्ध हुआ है। पटरिया भी क्षतिग्रस्त हो गई है। इस घटना के बाद कई यात्री ट्रेनें भी लेट से चल रही हैं। हादसे में दो पोल भी टूट कर गिर गए हैं। दुर्घटना इतनी जबरदस्त हुई है कि कोयले की रैक बीच में ही फट गए हैं। सुरक्षा के लिहाज से भारी पुलिस फोर्स की तैनाती कर दी गई है। ट्रैक कब तक ठीक हो पाएगा, इसको लेकर फिलहाल अधिकारी बोलने से बच रहे हैं। 





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

राष्ट्रीय

झरोखे से...