राम नगरी की बढ़ेगी रौनक, लता मंगेशकर की याद में अयोध्या में लगेगी 14 टन की भव्य कांस्य वीणा

Veena
ANI
अंकित सिंह । Sep 17, 2022 6:01PM
लता मंगेशकर चौराहे को अंतिम रूप दिया जा रहा है। पहले माना जा रहा था कि यहां लता मंगेशकर के मूर्ति स्थापित होगी। लेकिन अब यहां वीणा को स्थापित किया जाएगा। वीणा शुक्रवार शाम अयोध्या भी पहुंच गई है।

राम नगरी अयोध्या की सुंदरता और भी बढ़ने वाली है। राम नगरी को विकसित करने में उत्तर प्रदेश की योगी सरकार लगातार जुटी हुई है। इसी कड़ी में अयोध्या में अब भारत रत्न और सुर साम्राज्ञी लता मंगेशकर की याद में भव्य वीणा लगाई जा रही है। यह वीणा अयोध्या के लता मंगेशकर चौराहे पर लगाई जाएगी। अयोध्या के मुख्य प्रवेश द्वार नया घाट को हाल में ही लता मंगेशकर चौराहा घोषित किया गया था। मिल रही जानकारी के मुताबिक वीणा की चौड़ाई 10 फीट की है जबकि वजन 14 टन है। वहीं, इसकी लंबाई लगभग 40 फीट है। इसे 70 कलाकारों ने तैयार किया है। वीणा पर माता सरस्वती और लक्ष्मी के साथ दो मोर भी बने हुए हैं। 

इसे भी पढ़ें: मोदी का विजन, योगी की देख-रेख, अगले 1 साल में बदल जाएगी अयोध्या की तस्वीर, सोलर सिटी, राम मंदिर स्टाइल में रेलवे स्टेशन

लता मंगेशकर चौराहे को अंतिम रूप दिया जा रहा है। पहले माना जा रहा था कि यहां लता मंगेशकर के मूर्ति स्थापित होगी। लेकिन अब यहां वीणा को स्थापित किया जाएगा। वीणा शुक्रवार शाम अयोध्या भी पहुंच गई है। इतना ही नहीं, इस चौराहे पर लाइट और साउंड के भी समन्वय की व्यवस्था की जा रही है ताकि लता मंगेशकर के द्वारा गाए गए राम भजन को श्रोताओं तक पहुंचाया जा सके। जानकारी के मुताबिक इस वीणा को नोएडा से अयोध्या पहुंचने में 3 दिन लगे हैं। जबकि से राम सुतार फाइन आर्ट लिमिटेड कंपनी की ओर से तैयार किया गया है। मिल रही जानकारी के मुताबिक 28 सितंबर को योगी आदित्यनाथ इस चौराहे का उद्घाटन करेंगे। इस चौराहे को विकसित करने में करीब 8 करोड रुपए की लागत आई है। 

इसे भी पढ़ें: श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र की बैठक में बड़ा फैसला, 2024 की मकर संक्रांति के दिन विराजमान होंगे रामलला

वीणा पूरी तरह से कांस्य की बनी हुई है। कभी-कभी इसकी सफाई भी करनी पड़ेगी। इसकी आयु सैकड़ों साल हो सकती है। दावा किया जा रहा है कि वीणा बनाने से पहले वीणा वादकों से मुलाकात की गई थी। उसके बाद इसे बनाने का निर्णय लिया गया था। वीणा बनाने से पहले इसे समझा गया है। इस चौराहे पर लता मंगेशकर के भजन हर पल गूंजेंगे। 28 सितंबर को लता मंगेशकर का जन्मदिन है। यही कारण है कि इस बात की उम्मीद है कि योगी आदित्यनाथ इस चौराहे का उद्घाटन 28 सितंबर को कर सकते हैं। आपको बता दें कि लता मंगेशकर भारत की सुप्रसिद्ध गायिका रही है। इसी साल 6 फरवरी को उनका निधन हो गया था। 

अन्य न्यूज़