ओडिशा में कोविड-19 के 1,558 नये मामले, 66 मरीजों की मौत

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  जुलाई 30, 2021   17:11
ओडिशा में कोविड-19 के 1,558 नये मामले, 66 मरीजों की मौत

ओडिशा में शुक्रवार को कोविड-19 के 1,558 नये मामले सामने आने के साथ ही कुल संक्रमितों की संख्या बढ़कर 9,75,690 हो गयी जबकि 66 और मरीजों की मौत होने से मृतकों की तादाद 5,834 पर पहुंच गयी। राज्य के स्वास्थ्य विभाग के एक अधिकारी ने यह जानकारी दी।

भुवनेश्वर। ओडिशा में शुक्रवार को कोविड-19 के 1,558 नये मामले सामने आने के साथ ही कुल संक्रमितों की संख्या बढ़कर 9,75,690 हो गयी जबकि 66 और मरीजों की मौत होने से मृतकों की तादाद 5,834 पर पहुंच गयी। राज्य के स्वास्थ्य विभाग के एक अधिकारी ने यह जानकारी दी। ओडिशा में कोरोना संक्रमण की दर घटकर 2.05 प्रतिशत हो गयी है। संक्रमण के नये मामलों में से 904 मामले पृथक-वास केन्द्रों से सामने आए जबकि 654 मामले संपर्क का पता लगाने के दौरान सामने आए। स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी के मुताबिक खुर्दा जिले में सर्वाधिक 479 नये मामले सामने आए।राजधानी भुवनेश्वर भी इसी जिले का हिस्सा है। इसके बाद कटक में 241 और बालासोर में कोरोना वायरस संक्रमण के 97 नये मामले सामने आए।

इसे भी पढ़ें: इंदौर में चार लोगों की मौत के पीछे एक ही ब्रांड की नकली व्हिस्की का हाथ होने का संदेह

कोरापुट में संक्रमण का केवल एक नया मामला सामने आया। सुंदरगढ़ जिले में इस दौरान कोविड-19 के सर्वाधिक 11 मरीजों की मौत हुई। इसके बाद कटक में 10 और खुर्दा में आठ लोगों को इस महामारी ने अपना शिकार बनाया। ओडिशा में कोविड-19 के उपचाराधीन मरीजों की संख्या 16,715 हो गयी है। राज्य में बीते 24 घंटे के दौरान कोविड-19 के 2,039 मरीज संक्रमण मुक्त भी हुए, जिससे प्रदेश में इस जानलेवा वायरस को मात देने वालों की कुल संख्या बढ़कर 9,53,088 हो गयी है। स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी के मुताबिक, ओडिशा में कुल 1.61 करोड़ लोग कोविड-19 रोधी टीके की खुराक ले चुके हैं, जिसमें से 38.26 लाख से अधिक लोग टीके की दोनों खुराक ले चुके हैं।

इसे भी पढ़ें: छोटे शहरों में कोविड टीकाकरण का बढ़ावा देने के लिए सीरम और CII ने मिलाया हाथ

इस बीच, कोविड-19 महामारी की तीसरी लहर की आशंका को देखते हुए स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग में अतिरिक्त मुख्य सचिव पी के महापात्र ने जिलाधिकारियों, मुख्य चिकित्सा अधिकारियों और विभिन्न अस्पतालों के अधिकारियों को तैयारी करने के लिए नये निर्देश जारी किए। स्वास्थ्य विभाग ने संभावित तीसरी लहर के लिए 610 गहन चिकित्सा सुविधा वाले बिस्तरों सहित 3,000 अतिरिक्त बिस्तरों की व्यवस्था की है। इसी तरह, 32 बिस्तरों वाली बाल रोग इकाई भी स्थापित की जा रही है। ऑक्सीजन की कमी को पूरा करने के लिए राज्य के 30 जिलों में ऑक्सीजन संयंत्र भी लगाए जा रहे हैं, जिन्हें अगस्त के अंत तक शुरू करने की योजना है।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।