केरल में 15वीं विधानसभा के सत्र की शुरुआत 24 मई से, सदन में एक साथ दिखेंगे ससुर-दामाद

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  मई 23, 2021   18:37
केरल में 15वीं विधानसभा के सत्र की शुरुआत 24 मई से, सदन में एक साथ दिखेंगे ससुर-दामाद

कुन्नामंगलम के विधायक पीटीए रहीम को हाल में प्रोटम स्पीकर बनाया गया है और वही विधायकों को शपथ दिलाएंगे। राज्य में 140 सदस्यों वाली विधानसभा में नए अध्यक्ष के चयन के लिए 25 मई को चुनाव होगा।

तिरुवनंतपुरम। केरल में मुख्यमंत्री पिनराई विजयन नेतृत्व वाली सरकार के गठन के तीन दिन बाद 24 मई से 15वीं विधानसभा का पहला सत्र शुरू होगा। सूत्रों ने बताया कि सत्र का आयोजन कोविड-19 के कड़े नियमों के बीच होगा और यह 14 जून तक चलेगा। पहली बार जीतकर विधानसभा पुहंचे नए विधायकों को सत्र के पहले दिन 24 मई को शपथ दिलाई जाएगी। कुन्नामंगलम के विधायक पीटीए रहीम को हाल में प्रोटम स्पीकर बनाया गया है और वही विधायकों को शपथ दिलाएंगे। राज्य में 140 सदस्यों वाली विधानसभा में नए अध्यक्ष के चयन के लिए 25 मई को चुनाव होगा। 

इसे भी पढ़ें: लगातार दूसरी बार केरल के मुख्यमंत्री बने पी विजयन, राज्यपाल ने दिलाई शपथ

सत्तारूढ़ एलडीएफ नेथिरथला से विधायक एम बी राजेश को विधानसभा अध्यक्ष पद का उम्मीदवार बनाने की घोषणा की है। हालांकि, कांग्रेस ने अभी तक अपने उम्मीदवार का नाम जारी नहीं किया है। राज्यपाल आरिफ मोहम्मद खान का 28 मई को अभिभाषण होगा और वह विजयन के नेतृत्व वाली सरकार की नीतियों का खाका प्रस्तुत करेंगे। वहीं, वित्त मंत्री के एन बालगोपाल चार जून को 2021-22 का संशोधित बजट और लेखानुदान पेश करेंगे। केरल की 15वीं विधानसभा में कुछ ऐसी खासियत शामिल हैं जो कि पिछले चार दशक में पहली बार हुआ है। इस अवधि में पहली बार ऐसा हो रहा है जब कोई सरकार या मुख्यमंत्री ने लगातार दूसरी बार सत्ता की कमान संभाली हो। वहीं विपक्षी खेमे में पीढ़ीगत परिवर्तन देखने को मिल रहा है। 

इसे भी पढ़ें: केरल विधानसभा में विपक्ष के नेता होंगे कांग्रेस के वीडी सतीशन

सदन में कांग्रेस विधायक दल के नेता के रूप में अब वीडी सतीशन होंगे। वह वरिष्ठ नेता रमेश चेन्नीथला की जगह लेंगे। वहीं, इतिहास में ऐसा पहली बार हो रहा है जब ससुर और दामाद सदन में एक साथ आएंगे। मुख्यमंत्री पी विजयन और लोक निर्माण-पर्यटन मंत्री पीए मोहम्मद रियास सदन में दिखेंगे। बेपोर के विधायक रियास की शादी पिछले साल ही मुख्यमंत्री की बेटी वीणा से हुई थी। इस विधानसभा में तीन महिला मंत्री हैं। हाल के वर्षों में यह सबसे ज्यादा है। वीणा जॉर्ज के पास स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण, आर बिंदू के पास उच्च शिक्षा एवं सामाजिक न्याय और जे चिंचूरानी के पास (पशु चिकित्सा व डेयरी विकास) मंत्रालय है।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।