देश में कोरोना के 197387 एक्टिव केस, अब तक ठीक हुए 295880 संक्रमित

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  जून 27, 2020   10:51
देश में कोरोना के 197387 एक्टिव केस, अब तक ठीक हुए 295880 संक्रमित

सुबह आठ बजे के ताजा आंकड़ों के अनुसार देश में 1,97,387 संक्रमित लोगों का उपचार चल रहा है और 2,95,880 लोग स्वस्थ हो चुके हैं। इसके अलावा, एक मरीज विदेश चला गया है। मरीजों के स्वस्थ होने की दर के बारे में एक अधिकारी ने कहा, ‘‘अब तक करीब 58.13 प्रतिशत मरीज स्वस्थ हो चुके हैं।’’

नयी दिल्ली। भारत में कोरोना वायरस संक्रमण के एक दिन में सर्वाधिक 18,552 नए मामले सामने के बाद शनिवार को संक्रमित लोगों की कुल संख्या पांच लाख से अधिक हो गई तथा 384 और लोगों की मौत हो जाने के बाद मृतक संख्या बढ़कर 15,685 हो गई है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के आंकड़ों के अनुसार पिछले 24 घंटे में सामने आए कोरोना वायरस संक्रमण के 18,552 नए मामलों के साथ देश में अब तक इस महामारी की जद में आने वालों की कुल संख्या 5,08,953 हो गई है। इस अवधि में 384 और लोगों की जान गई है जिससे मृतक संख्या बढ़कर 15,685 तक पहुंच गई है।

इसे भी पढ़ें: मुंबई की एक विशेष अदालत ने एल्गार परिषद मामले में राव, सेन की अस्थायी जमानत याचिका की खारिज

सुबह आठ बजे के ताजा आंकड़ों के अनुसार देश में 1,97,387 संक्रमित लोगों का उपचार चल रहा है और 2,95,880 लोग स्वस्थ हो चुके हैं। इसके अलावा, एक मरीज विदेश चला गया है। मरीजों के स्वस्थ होने की दर के बारे में एक अधिकारी ने कहा, ‘‘अब तक करीब 58.13 प्रतिशत मरीज स्वस्थ हो चुके हैं।’’ जिन लोगों के संक्रमित होने की पुष्टि हुई है, उनमें विदेशी भी शामिल हैं। पिछले 24 घंटे में शनिवार सुबह तक 384 लोगों की मौत हुई। इनमें से महाराष्ट्र में 175, दिल्ली में 63, तमिलनाडु में 46, उत्तर प्रदेश में 19, गुजरात में 18, हरियाणा में 13, आंध्र प्रदेश में 12, पश्चिम बंगाल और कर्नाटक में 10-10, तेलंगाना में सात, मध्य प्रदेश में चार, पंजाब में दो, जम्मू-कश्मीर, छत्तीसगढ़, बिहार, राजस्थान और उत्तराखंड में एक-एक मरीज की मौत हुई है।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।