1984 सिख दंगा केस में सजा का ऐलान, एक को फांसी दूसरे को उम्रकैद

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  नवंबर 20, 2018   16:57
1984 सिख दंगा केस में सजा का ऐलान, एक को फांसी दूसरे को उम्रकैद

एक दोषी यशपाल सिंह को फांसी की सजा सुनाई गई है, वहीं दुसरे दोषी नरेश सहरावत को उम्रकैद की सजा सुनाई गई है। इस मामले की जांच के लिए 2015 में SIT का गठन किया गया है।

 34 साल बाद सिख दंगे मामले में दिल्ली के पटियाला हाउस कोर्ट ने दोषियों को सजा सुनाई है। एक दोषी यशपाल सिंह को फांसी की सजा सुनाई गई है, वहीं दुसरे दोषी नरेश सहरावत को उम्रकैद की सजा सुनाई गई है। इस मामले की जांच के लिए 2015 में SIT का गठन किया गया है। 





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।