• कमरुद्दीन समेत 24 आरोपियों ने डॉक्टर के कपड़े उतार कर पीटा, IMA ने गृह मंत्री को लिखा पत्र, CM ने दिए कार्रवाई के आदेश

अभिनय आकाश Jun 02, 2021 17:01

कोरोना वायरस से गंभीर रूप से संक्रमित मरीज की उडाली कोविड देखभाल केन्द्र में मौत हो गई थी। मरीज की मौत के तुरंत बाद, उसके रिश्तेदार और उसके परिचित लोगों का समूह वहां पहुंचा और चिकित्सक को मारने लगा।

असम में डॉक्टर पर भीड़ के हमले का वीडियो वायरल होने के बाद हेमंत सरकार एक्शन में है। ट्वीटर पर जब ये वीडियो एक यूजर के जरिये शेयर किया गया तो सीएम हेमंत विश्व शर्मा एक्शन में आ गए। उन्होंने ट्वीटर पर लिखा कि फ्रंट लाइन वर्कर पर हमला बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। सीएम ने तुरंत इस मामले में असम पुलिस और डीजीपी को दोषियों पर कार्रवाई करने के लिए कहा। जिसके बाद 24 आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। मुख्यमंत्री ने कहा है कि जल्द ही इन आरोपियों के खिलाफ चार्जशीट दायर की जाएगी और वो खुद इस मामले की जांच की निगरानी करेंगे। 

क्या है पूरा मामला

दरअसल, कोरोना वायरस से गंभीर रूप से संक्रमित मरीज की उडाली कोविड देखभाल केन्द्र में मौत हो गई थी। मरीज की मौत के तुरंत बाद, उसके रिश्तेदार और उसके परिचित लोगों का समूह वहां पहुंचा और चिकित्सक को मारने लगा। समूह अस्पताल के भीतर घुस कर डॉक्टर के कपड़े उतार कर उन्हें घसीट-घसीट कर पीट रहा था। लात-घूसों से डॉक्टर की पिटाई की गई थी। उनमें से एक अपने हाथ में बर्तन लेकर ताबड़तोड़ वार कर रहा था। घटना की जानकारी मिलने के बाद पुलिस मौके पर पहुंचकर तीन लोगों को गिरफ्तार किया। होजई के पुलिस अधीक्षक बरुन पुरकायस्थ ने बताया कि मामले की जांच जारी है।’’ इस घटना का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया, जिसमें महिलाओं सहित कुछ लोग एक चिकित्सक को मारते नजर आ रहे हैं। 

इसे भी पढ़ें: वैक्सीन उपलब्ध रहे तो 15 अगस्त तक असम की 30 प्रतिशत आबादी को टीका लगाने का लक्ष्य- हिमंत बिस्व सरमा

मामले में अब तक 24 गिरफ्तार

इस घटना के मामले में अब तक 24 आरोपितों को गिरफ्तार किया गया है, जिनमें मोहम्मद कमरुद्दीन, मोहम्मद जैनलुद्दीन, रेहनुद्दीन, सईदुल आलम, रहीमुद्दीन, राजुल इस्लाम, तैयबर रहमान और साहिल इस्लाम शामिल हैं। 

CM खुद कर रहे मामले की निगरानी 

मंत्री हिमंत बिस्वा सरमा ने कहा कि वो व्यक्तिगत रूप से इस घटना के संबंध में हो रही कार्रवाई की निगरानी कर रहे हैं और वादा करते हैं कि न्याय होगा। पीड़ित डॉक्टर ने बताया कि बदमाशों की भीड़ के कारण मेडिकल कर्मचारियों को अस्पताल में ताला लगा कर भागना पड़ा। अस्पताल की खिड़कियों सहित सार्वजनिक संपत्ति को नुकसान पहुँचाया गया।

IMA ने गृह मंत्री को लिखा पत्र 

इंडियन मेडिकल एसोसिएशन (IMA) ने केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह को पत्र लिख कर मेडिकल कर्मचारियों की सुरक्षा सुनिश्चित करने का आग्रह करते हुए कहा कि पूरे देश में इस तरह की घटनाएँ सामने आ रही हैं, इसीलिए दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाए।