उत्तराखंड में कोरोना संक्रमण के 47 मरीजों में से 24 ठीक हो चुके: त्रिवेंद्र सिंह रावत

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  अप्रैल 24, 2020   15:58
उत्तराखंड में कोरोना संक्रमण के 47 मरीजों में से 24 ठीक हो चुके: त्रिवेंद्र सिंह रावत

उन्होंने कहा कि कोरोना योद्धा पूरी निष्ठा के साथ अपने दायित्वों का निर्वहन कर रहे हैं और साथ ही जनता ने भी दृढ़ इच्छाशक्ति और अनुशासन का परिचय देते हुए सरकार का सहयोग किया है।

देहरादून। मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने बृहस्पतिवार को कहा कि उत्तराखंड में कोरोना संक्रमण के 47 मरीजों में से 24 ठीक हो चुके हैं और बहुत जल्द राज्य कोरोनामुक्त हो जाएगा। यहां मुख्यमंत्री रावत ने कहा, ‘‘अभी तक 47 पॉजिटिव केस राज्य में आए हैं जिनमें से 24 ठीक हो गए हैं।’’ राज्य में कोरोना को नियंत्रित रखने में महत्वपूर्ण सहयोग देने के लिये कोरोना योद्धा के साथ ही प्रदेशवासियों को भी धन्यवाद देते हुए मुख्यमंत्री ने कहा, मुझे विश्वास है कि बहुत जल्द हम कोरोना मुक्त राज्य में शामिल हो जाएंगे।’’ उन्होंने कहा कि कोरोना योद्धा पूरी निष्ठा के साथ अपने दायित्वों का निर्वहन कर रहे हैं और साथ ही जनता ने भी दृढ़ इच्छाशक्ति और अनुशासन का परिचय देते हुए सरकार का सहयोग किया है।

रावत ने कहा कि इसी का परिणाम है कि हम राज्य में कोरोना संक्रमण बढ़ने की दर को काफी कम रखने में सफल रहे हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि आमजन का इसी प्रकार साथ मिलता रहा तो कोरोना के खिलाफ लंबी लड़ाई में अवश्य जीतेंगे। उन्होंने कहा कि उत्तराखंड में कोरोना का पहला मरीज 15 मार्च को मिला था और इसके बाद राज्य सरकार ने अपने स्कूल-कॉलेज बंद करने का निर्णय लिया। उन्होंने कहा कि पूरे देश में जनता कफर्यू और उसके बाद लॉकडाउन को लागू हुए आज एक महीना एक दिन हो गया है। 

इसे भी पढ़ें: केंद्र MSME का लंबित बकाया ब्याज सहित लौटाने की योजना पर कर रहा काम: गडकरी

रावत ने कहा कि उत्तराखंड आज कोरोना की रोकथाम में देश में तीसरे नंबर पर है और प्रशासनिक तंत्र के साथ ही इसमें पुलिस, सामाजिक संगठनों एवं आमजनों की महत्वपूर्ण भूमिका रही है। उन्होंने उम्मीद जतायी कि भविष्य में भी जनता इसी तरह से पूरे संयम के साथ आगे भी सहयोग देती रहेगी। इस बीच, उत्तराखंड में बृहस्पतिवार को सामने आया कोरोना का 47 वां मरीज 54 वर्षीय एक व्यक्ति है जो तबलीग जमात के संक्रमित सदस्यों के संपर्क में रहा था। यहां स्वास्थ्य विभाग के एक प्रवक्ता ने बताया कि यह व्यक्ति मूल रूप से पश्चिम बंगाल के रहने वाले उस आठ सदस्यीय दल में शामिल है जिसमें से दो जमात सदस्य समेत चार व्यक्ति पहले की कोरोना संक्रमित हो चुके हैं। 





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

राष्ट्रीय

झरोखे से...