महाराष्ट्र में कोरोना वायरस के 26,133 नए मामले, 682 लोगों की मौत

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  मई 23, 2021   10:54
महाराष्ट्र में कोरोना वायरस के 26,133 नए मामले, 682 लोगों की मौत

उसके अनुसार, आज 40,294 मरीजों के संक्रमण मुक्त होने के साथ ही महाराष्ट्र में ठीक हुए लोगों की संख्या बढ़कर 51,11,095 पहुंच गयी है। राज्य में फिलहाल 3,52,247 मरीज उपचाराधीन हैं।

मुंबई। महाराष्ट्र में शनिवार को कोविड-19 के 26,133 नए मामले आए हैं जबकि संक्रमण से 682 लोगों की मौत हुई है। स्वास्थ्य विभाग द्वारा जारी बुलेटिन के अनुसार, राज्य में अभी तक कुल 55,53,225 लोगों के संक्रमित होने और कोरोना वायरस संक्रमण से 87,300 लोगों के मरने की पुष्टि हुई है। उसके अनुसार, आज 40,294 मरीजों के संक्रमण मुक्त होने के साथ ही महाराष्ट्र में ठीक हुए लोगों की संख्या बढ़कर 51,11,095 पहुंच गयी है। राज्य में फिलहाल 3,52,247 मरीज उपचाराधीन हैं। 

इसे भी पढ़ें: मैं कम से कम जमीन पर जाकर हालात का जायजा तो ले रहा हूं न कि हेलीकॉप्टर में : ठाकरे

राज्य में मरीजों के स्वस्थ होने की दर 92.04 प्रतिशत है जबकि मृत्यु दर बढ़कर 1.57 हो गयी है। इसी अवधि में संक्रमण दर घटकर 16.97 प्रतिशत रह गयी है। बुलेटिन के अनुसार, कोविड-19 से हुई 682 मौतों में से 392 पिछले 48 घंटें में हुई हैं जबकि 290 पिछले सप्ताह हुई हैं। मुंबई में 1,283 नए मामलों और 52 लोगों की मौत के साथ अभी तक संक्रमित हुए लोगों की संख्या बढ़कर 6,95,483 और संक्रमण से मरने वालों की संख्या 14,516 हो गई है। वहीं पुणे जिले में शनिवार को 3520 और मरीज मिलने के बाद संक्रमितों की कुल संख्या बढ़कर 992436 हो गई है जबकि 92 और मरीजों की मौत के बाद महामारी से जिले में जान गंवाने वालों की संख्या बढ़कर 15995 हो गई है। 

इसे भी पढ़ें: PM से चक्रवात प्रभावित सभी राज्यों के लिए आर्थिक सहायता देने का अनुरोध करूंगा: आठवले

महाराष्ट्र में कोविड-19 की शनिवार को स्थिति इस प्रकार है.... अभी तक संक्रमित हुए कुल लोगों की संख्या 55,53,225; नए मामले 26,133; संक्रमण से हुई कुल मौतें 87,300; अभी तक संक्रमण मुक्त हुए लोग 51,11,095; उपचाराधीन मरीजों की संख्या 3,52,247; अभी तक हुई नमूनों की जांच की संख्या 3,27,23,361।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।