ओडिशा में कोरोना के 282 नए मामले, कुल संख्या 5752 हुई

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  जून 24, 2020   14:40
ओडिशा में कोरोना के 282 नए मामले, कुल संख्या 5752 हुई

पश्चिम बंगाल में अम्फान चक्रवात के बाद पुनर्निर्माण कार्य से लौटे एनडीआरएफ के आठ कर्मियों की जांच में भी कोविड-19 की पुष्टि हुई है। इस बीच गंजाम जिले के प्रशासन ने अधिसूचना जारी कर कहा है कि जिले में कोविड-19 के मामलों में वृद्धि को देखते हुए सभी सरकारी कार्यालय वरिष्ठ अधिकारियों के लिए बुधवार से दस दिन के लिए बंद रहेंगे।

भुवनेश्वर। ओडिशा में बुधवार को कोरोना वायरस संक्रमण के 282 नए मामले सामने आए जिसके बाद संक्रमण के कुल मामले बढ़कर 5,752 हो गए। स्वास्थ्य विभाग के एक अधिकारी ने बताया कि संक्रमण के नए मामलों में से आठ मामले राष्ट्रीय आपदा मोचन बल (एनडीआरएफ)के कर्मियों से जुड़े हैं। उन्होंने कहा कि 282 में से 256 मामले विभिन्न पृथक केंद्रों से सामने आए हैं जहां दूसरे राज्यों से लौटे लोगों को प्राथमिक निगरानी के वास्ते रखा गया है। उन्होंने कहा कि संक्रमितों में 26 स्थानीय लोग हैं जो किसी के संपर्क में आने के कारण संक्रमण के शिकार हुए।

पश्चिम बंगाल में अम्फान चक्रवात के बाद पुनर्निर्माण कार्य से लौटे एनडीआरएफ के आठ कर्मियों की जांच में भी कोविड-19 की पुष्टि हुई है। इस बीच गंजाम जिले के प्रशासन ने अधिसूचना जारी कर कहा है कि जिले में कोविड-19 के मामलों में वृद्धि को देखते हुए सभी सरकारी कार्यालय वरिष्ठ अधिकारियों के लिए बुधवार से दस दिन के लिए बंद रहेंगे। गंजाम जिले में तीन मई से लेकर अब तक वापस आने वाले प्रवासी श्रमिकों की संख्या सबसे ज्यादा है और यहां संक्रमण के 1,039 मामले सामने आ चुके हैं जिनमें से 680 मरीज ठीक हुए, आठ की मौत हो गई और अभी 342 मरीजों का इलाज चल रहा है। अधिकारी ने बताया कि राज्य में संक्रमण के कुल 5,752 मामलों में से अभी तक 3,988 मरीज ठीक हो चुके हैं और 17 की मौत हो गई।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।