रेमडीसीवर इंजेक्शन ब्लैक कर रहे एक डॉक्टर समेत 3 लोग गिरफ्तार

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  अप्रैल 30, 2021   14:24
रेमडीसीवर इंजेक्शन ब्लैक कर रहे एक डॉक्टर समेत 3 लोग गिरफ्तार

रेमडीसीवर इंजेक्शन ब्लैक कर रहे एक डाक्टर समेत तीन लोग गिरफ्तार किए गए है।सिंह ने बताया कि इन लोगों ने पूछताछ के दौरान अपने गैंग में कुछ और लोगों के शामिल होने का खुलासा किया है। पुलिस उनकी जल्द ही गिरफ्तारी करेगी।

नोएडा (उप्र)। कोविड-19 के अहम दवाओं में शामिल रेमडीसीवर इंजेक्शन ब्लैक कर रहे एक डाक्टर समेत तीन लोगों को थाना सेक्टर 24 पुलिस ने शुक्रवार को गिरफ्तार कर उनके पास से 3 इंजेक्शन बरामद किए हैं। थाना सेक्टर 24 के थानाध्यक्ष सुधीर कुमार सिंह ने बताया कि एक सूचना के आधार पर थाना पुलिस ने शुक्रवार को सुमित्रा हॉस्पिटल के पास से हमजा निवासी साहिबाबाद गाजियाबाद, मुजीब उर रहमान निवासी साहिबाबाद गाजियाबाद तथा डॉक्टर नुसरत इमाम निवासी मिलन विहार अपार्टमेंट एक्सटेंशन पटपड़गंज दिल्ली को गिरफ्तार किया है।

इसे भी पढ़ें: कोरोना की स्थिति को लेकर PM मोदी ने की केंद्रीय कैबिनेट के साथ बैठक

सिंह ने बताया कि डाक्टर नुसरत के पास से पुलिस ने एक ब्रिजा कार में रखी रेमडीसीविर 100 एमजी के 3 इंजेक्शन बरामद किया है। उन्होंने बताया कि पूछताछ के दौरान पुलिस को पता चला है कि ये लोग कोरोनावायरस से संक्रमित लोगों को सोशल मीडिया के माध्यम से संपर्क करते थे, तथा उन्हें ऊंचे दाम पर रेमडीसिवर इंजेक्शन बेचते थे। सिंह ने बताया कि इन लोगों ने पूछताछ के दौरान अपने गैंग में कुछ और लोगों के शामिल होने का खुलासा किया है। पुलिस उनकी जल्द ही गिरफ्तारी करेगी। उन्होंने बताया कि पुलिस को पूछताछ के दौरान पता चला है कि कुछ अस्पतालों के कर्मचारी व डाक्टरमरीजों के परिजनों से संपर्क करके, गिरफ्तार आरोपियों से रेमडीसिवर इंजेक्शन मंगवा रहे थे। पुलिस उन डाक्टर व कर्मचारियों को भी चिह्नित कर रही है।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।